top of page
  • Writer's pictureBB News Live

कामराज नगर में तड़ीपार और उसके परिजनों का आतंक

पीड़िता को मार मारकर किया अधमरा

पुलिस ने दिखावे के लिए दर्ज की एनसी


मुंबई। घाटकोपर पंतनगर पुलिस की हद से तड़ीपार हुए एक अपराधी व उसके परिजनो का छेत्र में दहशत कायम है।पीड़िता की शिकायत पर मात्र एनसी लेकर पुलिस ने मामला रफादफा करने का पूरा प्रयास किया है।जिससे पुलिस के प्रति कामराज नगर की जनता में आक्रोश फ़ैल रहा है।

गौरतलब है की कामराज नगर जुनी रमाबाई के जिगरा निकालजे उर्फ़ जिगरा को उसके अपराधिक मामलो को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेश केवले के निर्देश पर तड़ीपार किया गया है।बावजूद वह कामराज नगर में आकर रहता है और दिन रात झोपड़ा बनाकर बेचने क्लब चलाने का काम करता है।पुलिस सूत्र बताते हैं की बुधवार 29 मई को जिगरा व उसकी पत्नी सबा,उसकी मावसी रानी,अकीला व अन्य ने मिलकर जगदेवी अनिल पवार (25) नामक एक गरीब महिला की जमकर पिटाई किए।जिसमे जिगरा भी शामिल था।


पंतनगर पुलिस स्टेशन पहुंच कर जब जगदेवी पवार शिकायत करनी चाही तो पुलिस ने उसे करीब 5 घन्टे बैठाकर रखी।लेकिन उसकी शिकायत लेने की बजाव ड्यूटी आफिसर ने उक्त महिला को भला बुरा कहकर उसकी शिकायत मात्र एनसी क्रमांक 1264/2024 भादवीं 504 व 323 के तहत लिखकर उसे भगा दिया है।इसकी जानकारी यहां के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक को दिए लेकिन जिगरा परिवार का नाम सुनकर वह भी मौन धारण कर लिए।उन्होंने उक्त पीड़िता को न्याय दिलाने की बजाय कहा की आपका शिकायत लिया गया है अगर बाद में कुछ और हुआ तो संबंधितो पर कड़ी कार्यवाई की जायेगी।एक समाज सेवक ने अपना नाम ना बताने की शर्त पर बताया की जिगरा करीमा शाह का ख़ास फंटर है बावजूद पुलिस उसे संरक्षण देती है यह तो सरासर अन्याय है।


Comments


bottom of page