top of page
  • Writer's pictureBB News Live

शास्त्रीय संगीत पद्धति गायक का पुनः कल्याण में हुआ आगमन,भजनप्रेमी हुए उत्साहित



मुंबई। उपनगर के कल्याण पूर्व स्थित वैष्णवी पार्क में रहनेवाले चौहारी अखाङा के उभरे नवयुवक गायक,युटूब क्रियेटर संगीत रसिया के प्रोपराईटर तथा मानस मंडल के संस्थापक सुप्रसिद्ध गायक पंडित दिनेश मिश्रा का फिर से कल्याण की पावन भूमि में पदार्पण हो चुका है जो महाराष्ट्र में भीषण रूप से चल रहे कोरोनाकाल के नियमो के पालन हेतु कङक रूप से बंदिशो के चलते तकरीबन एक डेढ वर्षो से अपने मूल गांव मानिकपट्टी जो उत्तर प्रदेश के भदोही जिले में है वहां और अगल बगल के नजदीकी क्षेत्रीय जिलो में भी अपनी गायकी के सुर बिखेर रहे थे।


गौरतलब हो कि उक्त गायक कोरोना काल के पहले मात्र दो वर्षो में मुबई एवं उसके उपनगरीय इलाको में तकरीबन डेढ सौ से अधिक पाठ,भजन और गायन में अपने मंडलयीय सहयोगीजनो के साथ अविस्मरणीय सुरो से गायकी की सेवांए दे चुके है जो यदि महाराष्ट्र में अत्यधिक कोरोना का प्रकोप नही रहता तो यह आकङा अभीतक पाँच सौ को भी पार कर गया रहता।


जिन सबके बावजूद भी ये उत्तर प्रदेश में पचासो से भी अधिक गायकी की सेवांए देते रहे जहां भी इनके सुर अलापो पर इनामो की बौछार लग जाती थी।

फिर भी मुंबई के चौहारी अखाङे में फिर से जान फूँकने के ध्यानार्थ इन्होने महानगर का रूख किए जिस कारण उनके मंडल सदस्यगणो के कोरश गायक संदीपलाल यादव,गीतकार कवि खूँटातोङ,ढोलवादक डाक्टर शर्मा,झांझवादक सूर्य प्रकाश शुक्ला सहित सहयोगी बेलवरिया गायक उमाशंकर पांडे सहित सैकङो भजन रसिकगणो में इनके आगमन से खुशी की लहर व्यापत है।

Comments


bottom of page