top of page
  • Writer's pictureBB News Live

सेना के जवानों के परिवारों पर आधारित  शानदार फिल्म 'भारत माझा देश आहे' का ट्रेलर लांच



अमित मिश्रा/मुंबई। भारत मेरा देश है, सभी भारतीय मेरे भाई-बहन हैं... यह प्रतिज्ञा बचपन से हमारे मन में बसी हुई है।  कई लोगों की भावनाओं को इस प्रतिज्ञा से जोड़ा गया है।  निर्देशक पांडुरंग कृष्ण जाधव ने फिल्म 'भारत माझा देश आहे' में इसी भावना से जुड़ी एक ऐसी ही संवेदनशील कहानी सामने लाने की कोशिश की है।  इस जानदार-शानदार फिल्म का ट्रेलर बॉलीवुड एक्टर मनोज वाजपेयी ने एक यादगार इवेंट के दौरान लांच किया । एबीसी क्रिएशन द्वारा प्रस्तुत व डॉ. आशीष अग्रवाल द्वारा निर्मित यह फिल्म पूरे महाराष्ट्र में 6 मई को रिलीज़ होगी।


 ऐसे समय में जब सैनिक सीमा पर लड़ रहे होते हैं व जब टीवी पर युद्ध की खबर आती है, तो उनके परिवार परेशान होते हैं कि क्या उनके परिवार का अहम सदस्य वहां सुरक्षित है ? यह एक निरंतर चिंता का विषय रहा है। फ़िल्म इसी बेस पर आधारित है।


यह एक ऐसी फिल्म है जो सैनिकों के परिवारों की स्थितियों-परिस्थितियों पर प्रकाश डालती है ।  हालांकि फ़िल्म का विषय बेहद संवेदनशील है, लेकिन फिल्म में इसे बेहद हल्के-फुल्के अंदाज में पेश किया गया है।  फिल्म में गाने समीर सामंत के हैं और संगीत अश्विन श्रीनिवासन ने दिया है। महालक्ष्मी अय्यर, अश्विन श्रीनिवासन, अंकिता जोशी, संकेत नाइक, अथर्व श्रीनिवासन, विश्व झा जाधव, तनिष्का माने ने गानों को स्वरबद्ध किया है।  इस फिल्म की कहानी पांडुरंग कृष्ण जाधव की है और पटकथा और संवाद निशांत नाथराम धापसे का है।


बता दें कि कुछ दिनों पहले इस फिल्म का गाना 'भारत माता की जय' दर्शकों के सामने आया था।  उस गाने में राजवीर सिंह राजे गायकवाड़ और देवांशी सावंत को दिखाया गया है। फिल्म में शशांक शेंडे, मंगेश देसाई, छाया कदम, हेमांगी कवि, नम्रता सलोखे और अन्य कलाकार हैं।


 बॉलीवुड अभिनेता मनोज वाजपेयी ने ट्रेलर लॉन्च अवसर पर कहा कि  "ऐसे मुद्दों से तभी निपटा जाता है जब मन में देशप्रेम की भावना हो।  इस प्रकार के विषय को संभालना आसान नहीं है क्योंकि यह बहुत ही नाजुक विषय है और इससे कई लोगों की भावनाएं जुड़ी हैं। हमारे जवान जहां सरहद पर लड़ते हैं, वहीं उनके परिवार भी घर में  लड़ रहे हैं।  फिल्म के लिए पांडुरंग जाधव का इस विषय का चुनाव निश्चित रूप से एक सराहनीय प्रयास है।  ट्रेलर को देखकर साफ है कि यह बहुत ही रोमांचक फिल्म बनी है।  सभी कलाकार खासकर बाल कलाकार बड़ी खूबसूरती से अभिनय करते नजर आ रहे हैं।"


फिल्म के निर्देशक पांडुरंग कृष्ण जाधव कहते हैं, ''भले ही यह देशभक्ति पर आधारित फिल्म हो, लेकिन दर्शकों का पूर्ण मनोरंजन करनेवाली फिल्म है जो एक सामाजिक संदेश भी देती है।  फिल्म कोल्हापुर के एक गांव पर आधारित है जहां हर घर से कम से कम एक व्यक्ति सेना में है।  इस सोच के युग में कि शिवाजी का जन्म पड़ोसी के घर में होना चाहिए, आज शिवाजी महाराज का जन्म सैनिकटाकली गाँव के घर-घर में हुआ है।  मैं इस गांव के हर सैनिक के परिवारों का सम्मान करता हूं।  तथ्यों को जानने वालों ने जोखिम स्वीकार कर लिया है।  आज मैं अपनी फिल्म 'भारत माझा देश आहे' उन सभी को समर्पित कर रहा हूं।  हालांकि यह फिल्म सभी उम्र के लोगों के लिए है, लेकिन बच्चों को यह फिल्म विशेष रूप से पसन्द आएगी। ''

bottom of page