top of page
  • Writer's pictureBB News Live

पुलिस का गाडी लेकर पहुंचे होटल व्यवसाई के पास, 25 लाख लेकर हुए थे रफूचक्कर


मुंबई। मुंबई पुलिस अपराध शाखा का कर्मचारी बनकर के माटुंगा महेश्वरी उद्यान के पास स्थित केफे म्हैसूर हॉटेल के मालिक के घर पहुँच दो करोड़ की मांग करने वाले 6 लोगो को गिरफ्तार किए जाने की जानकारी मिली है।उक्त लोग पुलिस की गाडी लेकर वहां गए थे जिसके चलते उन्हें पकड़ने में पुलिस को मदद मिली है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार माटुंगा सर्कल के पास केफे म्हैसूर नामक एक होटल हैं।जिसके मालिक नरेश नायक हैं।दो दिन पहले नरेश के सायन स्थित घर पर कुछ लोग पुलिस की गाडी लेकर पहुंचे और नरेश से बोले की तुम चुनाव में वितरित करने के लिए बहुत पैसा रखे हो।हमे दो करोड़ रुपया दो वरना तुम्हारे खिलाफ मामला दर्ज कर जेल में डाला जाएगा।इतना सुनते ही नरेश के पैरो तले की जमीन खिसक गई।बहुत हाथ पैर जोड़ने के बाद आरोपियों ने 25 लाख रुपए में मामला तय हुआ और नरेश से आरोपियों ने 25 लाख लेकर रफू चक्कर हो गए।


आरोपियों के जाने के बाद श्री नायक ने आरोपियों के खिलाफ सायन पुलिस स्टेशन पहुंच कर मामला दर्ज कराया।पुलिस ने यह माँ।ला भारतीय दंड संविधान कलम 170,420,452,506 व 34 के तहत दर्ज कर मामले की जांच शुरू किया।उच्च अधिकारियो के निर्देश पर इस मामले की जांच सायन पुलिस के साथ साथ अपराध शाखा यूनिट 4 की पुलिस ने भी शुरू किया।पुलिस सूत्र बताते है आरोपी जब नरेश के घर गए थे तो वे पुलिस की गाडी में गए थे।जिसकी भनक लगते ही क्राइम ब्रांच की पुलिस ने उसी एंगल से जांच शुरू किया।धीरे धीरे पुलिस इस मामले में शामिल पुलिस कर्मचारी बाबासाहेब भागवत (50),सेवा निवृत्त पुलिस कर्मचारी दिनकर सालवे (60) को गिरफ्तार किया।उसके बाद उनकी निशानदेही पर पुलिस ने इस मामले में शामिल अन्य चार आरोपियों को खोज निकाला।जिनका नाम सागर रेडेकर (42),वसंत नाईक (52), श्याम गायकवाड (52) व नीरज खंडागले (35) बताया जाता है।


पुलिस सूत्र बताते हैं की आरोपियों ने नरेश को यह कहकर डराया धमकाया था की वे लोग चुनावी ड्यूटी पर है और तुम्हारे पास 17 करोड़ रुपया चुनाव में बांटने के लिए रखा हुआ है।जिसके बाद नरेश पूरी तरह घबरा कर आरोपियों को 25 लाख देकर अपना पीछा छुड़ाया था।जबकी उसके पास ऐसा कोई भी पैसा घर में रखा हुआ नहीं था।लेकिन डर बस आरोपियों को पैसे दे दिया था।लेकिन यह मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार करने की तत्परता दिखाया और तांत्रिक व मानवी जांच पड़ताल के सहारे आरोपीयो को गिरफ्तार किया हैं।

Comments


bottom of page