top of page
  • Writer's pictureRavi Nishad

पुकार संस्था व टाटा सोशल साइंस का संयुक्त कार्यक्रम।

मुंबई।'टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेज' में पुकार संस्था के युवा फेलोशिप प्रोजेक्ट में भाग लेने वाले अनुसंधान प्रशिक्षुओं द्वारा सामाजिक मुद्दों पर अनुसंधान परियोजनाओं की प्रदर्शनी मुंबई: पुकार संस्था 2004 से मुंबई में

सामाजिक परिवर्तन के काम में पहल कर रही है। पुकार संस्था मुंबई सहित महाराष्ट्र के सभी सुदूर, अविकसित जिलों में सामाजिक जागरूकता का काम कर रही है। पुकार नाम में पुकार छिपा है जिसका अर्थ है शहरी ज्ञान कार्रवाई और अनुसंधान के लिए भागीदार पुकार का अर्थ है सार्वजनिक भागीदारी के माध्यम से सामूहिक ज्ञान।एक उत्पादक संस्थान है जिसकी प्रशिक्षण छात्रवृत्ति को देश के सबसे प्रतिष्ठित संस्थान टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंस यानी टीआईएसएस द्वारा मान्यता प्राप्त पाठ्यक्रम का दर्जा दिया गया है। पुकार संस्था के माध्यम से शोध में प्रशिक्षित शोधकर्ताओं ने आवश्यकतानुसार शोध विषयों का ध्यानपूर्वक अवलोकन किया। नागरिकों की समस्याओं के समाधान के लिए शोध परियोजना से विषय के अनुरूप शोध विधियों का चयन कर जानकारी एकत्रित की गई। सितंबर 2023 से जून 2024 तक पुका2023-2024 की अवधि के दौरान शोध कार्य पूरा करने वाले शोधकर्ताओं का कहना है कि संस्थान के शोधकर्ताओं ने अपना चुना हुआ शोध प्रोजेक्ट पूरा कर लिया है.

Comments


bottom of page