top of page
  • Writer's pictureBB News Live

पुलिस अधिकारी ने किया महिला पुलिस कर्मी का शोषण।


आरोपी पीएसआई अब रोज दे रहा धमकी !

मुंबई।

मुंबई पुलिस में कार्यरत एक महिला पुलिस कर्मचारी का शारीरिक शोषण किए जाने के मामले में आरोपी पुलिस अधिकारी द्वारा तरह तरह की धमकी दिए जाने की बात सामने आ रही है।जबकि अपनी शिकायत दर्ज करवाने के बाद से पीड़िता न्याय के लिए दर दर की ठोकर खा रही है।उसकी मांग है की आरोपी पुलिस अधिकारी को नई मुंबई सानपाडा पुलिस जल्द से जल्द गिरफ्तार करे।

पुलिस के विशेष सूत्रो से प्राप्त जानकारी के अनुसार मुंबई पुलिस में कार्यरत एक महिला पुलिस कर्मचारी की दोस्ती करीब दो वर्ष पहले मुंबई के एक पुलिस थाने में कार्यरत एक पुलिस सब इंस्पेक्टर से हुई थी।तब पीड़ित महिला पुलिस कर्मचारी अविवाहित थी।दोनों की दोस्ती धीरे-धीरे प्यार में बदली और बाद में जब प्यार परवान चढ़ा तो दोनों ने एक दूसरे के साथ जीने मरने की कसमे खाकर आपस में कई बार संबंध बनाए।बताया जाता है की इन दोनों में जब भी संबंध बने हैं तो वह नई मुंबई स्थित आरोपी के घर में ही बने है।सूत्रो का कहना है की आरोपी पुलिस सब इंस्पेक्टर ने अपने प्रेम जाल में फंसा कर पीड़िता को अपने झांसे में लेकर धीरे धीरे तकरीबन 19 लाख रुपए पीड़ित महिला पुलिस कर्मचारी से ले लिए।इधर पीड़िता की शादी होने के बाद उसने आरोपित से अपनी दुरी बना ली।उसके बाद भी आरोपी उसका पीछा छोड़ने को तैयार नहीं था।वह अपनी हवस मिटाने के लिए पीड़िता को डरा धमका कर अपनी हवस मिटाने के लिए दबाव बनाता रहा है।लेकिन जब पीड़िता को यह मालुम पडा मतलब एहसास हुआ की आरोपी केवल उसे उल्लू बना कर पैसे ऐंठ रहा है तो उसके बाद उसने अपना दिया हुआ पैसा आरोपी से वापस माँगना शुरू कर दिया।उसके बाद दोनों में कई बार झगड़े हुए।आखिर में बीच बचाव के लिए आरोपी का भाई आगे आया और पीड़िता को दो चार बार में 14 लाख 61 हजार रुपए वापस दिए है।लेकिन जब पीड़िता को बाकी के पैसे वापस देने से आरोपी ने मना किया तो यह मामला गंभीर बन गया।आखिर में खुद को ठगा समझ कर पीड़िता ने 22 जून शनिवार को अपने पति के साथ घाटकोपर पंतनगर पुलिस स्टेशन पहुंच कर अपना दुखड़ा संबंधित अधिकारी को सुनाई।उसके बाद उच्च अधिकारियो के निर्देश पर पंतनगर पुलिस ने बलात्कार की धारा सहित अन्य धाराओ के तहत आरोपी पीएसआई के खिलाफ मामला दर्ज किया है।सूत्रो का कहना है की पंतनगर की पुलिस ने इस मामले में घटना के शुरूआती स्थल को अंकित करते हुए यह प्रकरण जीरो जीरो के तहत नई मुंबई के सानपाड़ा पुलिस को ट्रांसफर किया है।अब इस मामले की अधिक जांच नई मुंबई की सानपाड़ा पुलिस कर रही है।

Comentários


bottom of page