top of page
  • Writer's pictureBB News Live

आदरणीय श्री नीलमणि कृपालुदास महाराज जी द्वारा भव्य कथा रसबरसात व भावपूर्ण संकीर्तन यहाँ.. संपन्न



By:R.B.Singh

मुंबई। महानगर के गोरेगांव पूर्व स्थित गोकुलधाम परिसर स्थित श्री कृष्ण वाटिका मंदिर के प्रांगण में १० जुलाई रविवार को दोपहर तकरीबन ३ बजे से शाम ५ बजे तक आषाढी एकादशी व्रत के ध्यानार्थ एक भव्य सतसंग पाठ का आयोजन किया गया था जिसमें भगवान श्री कृष्ण के भक्तजन व श्रद्धालुजन भगवद्गीता से संबंधित कथा पाठ के श्रवण के साथ साथ कर्णप्रिय कीर्तन गायन कर काफी समय तक भावविभोर रहे।



गौरतलब हो कि आ.श्री नीलमणि जी महाराज जगदगुरू आ.श्री कृपालु जी महाराज के पौत्र एवं आ.श्री बालकृष्ण जी महाराज के पुत्र है जिनके मुखारबिन्दु से भी अद्भुत धाराप्रवाह प्रवचन व संकीर्तन श्रवण का आनंद मिलता रहता है जिसमें श्रोताजन एवं श्रद्धालुजन गोता लगाते रहते है।

जिस संदर्भ में मुंबई के ही विलेपार्ले पूर्व में रहनेवाले महानगर के सुप्रसिद्ध समाजसेवक दीनदयाल अग्रवाल नामक ६५ वर्षीय बुजूर्गजन को महाराज के आगमन की जैसे ही खबर मिली वे आनन फानन में उक्त जगह पहुँचकर आ.श्री महाराज द्वारा कहे जा रहे कथापाठ सहित महाराज का दर्शनालाभ भी लिए।



बतातें चलें कि पिछले तकरीबन दो ढाई वर्षो से देश और महानगर में चल रहे कोरोनाकाल के कारण इस तरह के आयोजनो पर प्रतिबंध लगे थे लेकिन अब ४ अप्रैल के बाद सरकारी प्रतिबन्धो में मिली तनिक ढील के बदौलत यदा कदा कही कही इस तरह के आयोजन होने लगे है फिर भी पुनः कोरोना काल की चौथी लहर आने के अंदेशे के कारण जहां तक संभव हुआ दो गज की दूरी के नियम पालन के साथ अधिकांश श्रद्धालुजन इस कथा व संकीर्तन पाठ के श्रवण गायन पश्चात वर्षो बाद फिर से ऊर्जान्वित हुए।

bottom of page