top of page
  • Writer's pictureBB News Live

मुंबई ट्रेन पैसेंजर्स एसोसिएशन ने की तमिलनाडु के लिए ट्रेन चलाने की मांग

मुंबई। आठ करोड़ की जनसंख्या वाले राज्य तमिलनाडु के यात्रियों की आवागमन सुविधा के लिए मुंबई से ट्रेन चलाने की मांग मुंबई ट्रेन पैसेंजर्स एसोसिएशन की ओर से रेल मंत्री और मध्य रेल के महाप्रबंधक सी की गई है। खास बात यह है कि चार करोड़ की जनसंख्या वाले राज्य केरला के लिए मुंबई से कुल 23ट्रेनें चलाई जा रही है। जिनमे दुरंतो और गरीब रथ जैसी ट्रेनी का समावेश है। लेकिन आठ करोड़ की जनसंख्या वाले तमिलनाडु राज्य के लिए नाम मात्र की सिर्फ एक ट्रेन चलाए जाने से मुंबई और पूना में रहने वाले तमिलनाडु मूल के निवासियों में रोष व्याप्त है।


मिली जानकारी के अनुसार केरला राज्य की जनसंख्या मात्र चार करोड़ है। उसके बाद भी वहां के निवासियों के आवागमन के लिए कुल 23ट्रेनें चलाई जा रही हैं। जबकि आठ करोड़ की आबादी वाले तमिलनाडु राज्य के लिए एक मात्र नागरकोईल एक्सप्रेस चलाई जाती हैं। तमिलनाडु के लिए ट्रेनों की संख्या पर्याप्त न होने से यहां के यात्रियों को गर्मी के छुट्टियों में गांव जाने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।


मुंबई ट्रेन पैसेंजर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर एस अन्नामलाई ने बताया कि पिछले बीस साल से तमिलनाडु राज्य के लिए नई ट्रेन चलाने की मांग की जा रही है लेकिन रेल मंत्रालय इस समस्या के प्रति गंभीर नहीं है। जबकि मुंबई थाने, पालघर नवी मुंबई, कर्जत, पूना में दक्षिण भारतीय समाज की जनसंख्या 40लाख के करीब पहुंच गई है। डॉक्टर एस अन्नामलाई ने बताया कि गर्मी की छुट्टियां शुरू हो गई हैं जिसके कारण दक्षिण भारत की ओर जाने वाले यात्रियों की संख्या भी बढ़ती जा रही है


उसके बाद भी गर्मी की छुट्टी में एक भी विशेष ट्रेन नहीं चलाई गई है। वहीं दक्षिण भारत के अनेक यात्रियों ने यह भी बताया कि एक तरफ केरला के लिए सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं वहीं तमिलनाडु के यात्रियों के लिए कोई भी सुविधा मुहैया न कराने से वहां के यात्रियों में आक्रोश व्याप्त है। मुंबई ट्रेन पैसेंजर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉक्टर एस अन्नामलाई ने कहा कि तमिलनाडु के लिए नई ट्रेन शुरू किए जाने के लिए हस्ताक्षर अभियान चलाया जाएगा। उसके बाद भी रेल विभाग द्वारा नई ट्रेन न चलाने पर आंदोलन का रुख अख्तियार किया जायेगा।

Comentarios


bottom of page