top of page
  • Writer's pictureBB News Live

मशहुर सुफी संत मुसन्ना मियां को याद करने आते हैं लाखों अनुयायी

मुंबई। क़ाइद-ए-कौमे मिल्लत, पीर-ए-तारीकत अल्लामा शाह सैयद अनवर अशरफ उर्फ मुसन्ना मियां की याद में 19 वां सालाना उर्स शहीद-ए-राहे मदीना हर वर्ष आयोजित किया जाता हैं ताकि उनके मुंबई महानगर क्षेत्र में फैले लाखों अनुयायी शामिल होकर उन्हें याद कर श्रद्धाजंलि दे सके।

मौलाना सैयद मोईनुद्दीन अशरफ के मार्गदर्शन में गत 19 वर्षों से मुंबई के छोटा सोनापुर स्थित ईदगाह मैदान में यह उर्स शहीद-ए-राहे मदीना आयोजित किया जाता हैं। हर क्षेत्र से जुड़े सामाजिक सरोकार रखनेवाले मान्यवर न सिर्फ शामिल होते हैं बल्कि हजरत मोईन मियां द्वारा नशाखोरी के खिलाफ अभियान का हिस्सा बन जाते हैं।


इस वर्ष उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री जगदंबिका पाल, महाराष्ट्र कांग्रेस के अध्यक्ष नाना पाटोले, राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल, गृहनिर्माण मंत्री डॉ जितेंद्र आव्हाड, कांग्रेस के कार्याध्यक्ष मोहम्मद आरिफ नसीम खान, शिक्षा मंत्री प्रो. वर्षा गायकवाड, मुंबई काँग्रेस अध्यक्ष भाई जगताप, मनसे नेता बाला नांदगांवकर, शिवसेना उप नेता एवं विख्यात मजदूर नेता सचिन अहिर, पूर्व सांसद संजय दिना पाटील, विधायक अमीन पटेल, पुलिस आयुक्त संजय पांडे, अनिल गलगली, एड रिजवान मर्चेंट आदि उपस्थित थे। हजरत मोईन मियां हमेशा कहते हैं कि इंसानियत ही सबसे अहम हैं।


इस उर्स की खासियत यह हैं कि हिंदुस्तान के कोने कोने से सूफी संत शामिल होते हैं। महाराष्ट्र के तमाम राजनीतिक दल के नेता भी शिरकत करते हैं। मस्जिदों के इमाम और दरगाह के उत्तराधिकारी विशेष तौर पर सम्मिलित होते हैं। महाराष्ट्र पुलिस के तमाम आला अफसर उर्स में उपस्थिति दर्ज कराते हैं।

Comments


bottom of page