top of page
  • Writer's pictureBB News Live

लक्जरी बसों के किराए में दोगुना तिगुना की हुई वृद्धि

मुंबईकरों की मुश्किलें बढ़ी


मुंबई। स्कुल कॉलेजों की छुटटी शुरू होते ही मेल एक्सप्रेस ट्रेनों में जहां मारा मारी शुरू हो गई है वही लक्जरी बसों के किराए में दोगुना तिगुना की बृद्धि हो गई है।जिसके चलते मुंबई के बाहर जाने व मुलुक जाने वालों की मुश्किलें बढ़ गई है।

Bus


        गौरतलब है कि स्कुल कॉलेज की छुट्टियां शुरू होते ही हर साल की तरह इस साल भी 10 अप्रैल से अपने अपने गांव जाने वालों की भीड़ बढ़ गई हैं।ट्रेन व लक्जरी  बसों में बढ़ती भीड़ को देखते हुए जहां टिकट के लिए मारा मारी शुरू है वही लक्जरी बसों के किराए में दोगुना तिगुना की बृद्धि हो गई है।टूर्स ट्रैवेल्स वाले मुंबई से नाशिक, मालेगांव, धुलिया, इंदौर, जलगांव, भुसावल, पूना, संभाजीनगर, जालना, नागपुर, परभणी, कोल्हापुर, सांगली सातारा, गोवा, कणकवली, बैंगलोर व मंगलोर जाने वाले लोगों से आम दिनों की अपेक्षा दोगुना तिगुना किराया वसूल रहे हैं।जिसके चलते आम जनता पूरी तरह परेशान हैरान है।


मुंबई सीएसटी के मनीष मार्केट के पास,दादर, सायन,चेंबूर अमर मैत्री पार्क,मुलुंड,घाटकोपर व बोरीवली जैसे ठिकानों पर मौजूद ट्रैवेल्स वाले आम यात्रियों से दोगुना तिगुना से भी अधिक किराया वसूलने का काम कर रहे हैं।इस मामले को लेकर चेंबूर के ट्रैवेल्स व्यवसाई अब्दुल भाई शेख ने बताया कि अभी सीजन है केवल अप्रैल मई के दो महिने ही ट्रैवेल्स का बिजनेस रहता है उसके बाद हम ट्रैवेल्स वाले आधे से अधिक गाडी खाली खाली भेजते हैं।तब हमसे कोई नहीं कहता है की आप लोगों का धंधा मंदा है।आज हम भीड़ के मददे नजर थोडा किराए में बृद्धि किए हैं तो कोई भी हम लोगो के पीछे पड़ जाता है। इसी तरह घाटकोपर व मुंबई सेन्ट्रल से गुजरात राजस्थान की तरफ जाने वाले लक्जरी बसों का भी हाल है ऑफ सीजन में यहाँ के बसो का किराया 1000 से 1500 तक होता है अभी सीजन में 2000 से 3000 तक किराया वसूलने का काम ट्रैवेल्स वाले कर रहे हैं।


घाटकोपर के अंकित ट्रैवेल्स के मालिक कमलेश जोशी ने बताया कि ट्रेनों में तत्काल टिकट भी नहीं मिल पा रहा है तो जनता बसों की तरफ अपना रुख कर रही है।बस वाले अभी थोड़ा किराया अधिक लेकर कम से कम सबको उनके गांव तक भेज तो रहें हैं।जिससे जनता समय पर शादी ब्याह में पहुंच तो रही हैं।घाटकोपर के पंतनगर में रहने वाले प्रभु स्वामी नामक सांगली के मूल निवासी यात्री ने बताया की सांगली सातारा जाने वालो से ट्रेवल्स वाले आम दिनों की अपेक्षा दोगुना तिगुना किराया ले रहे हैं मजबूरी में जनता सफर कर रही है।ऐसे ट्रेवल्स वालो पर अंकुश लगाने की जरूरत है जो मौके का फायदा उठा कर आम जनता को लूट रहे हैं।

Comments


bottom of page