top of page
  • Writer's pictureBB News Live

लाइट बिल भरने के लिए लिंक भेज कर लाखों की ठगी

ईस्ट रीजन सायबर सेल पुलिस ने पैसे वापस दिलाए



रवि निषाद/मुंबई। घाटकोपर पंतनगर पुलिस की हद में रहने वाली एक 44 वर्षीय महिला को लाइट बिल भरने की बात कर लाखो की ठगी की घटना घटी है।जिसकी शिकायत पर ईस्ट रीजन की पुलिस ने तत्काल कार्यवाई करते हुए उक्त महिला को ठगी किए गए पैसे वापस दिलाने का बेहद ही सराहनीय काम किया है।

गौरतलब है की पंतनगर बिल्डिंग नंबर 72 रूम नंबर 2153 में तृप्ती शैलेश नाइक (44) नामक महिला रहती है।पुलिस के अनुसार 16 जुलाई को 3 बजे के करीब तृप्ती को किसी ने मैसेज किया की आपने अपना लाइट बिल नहीं भरा है इसलिए आपकी लाइट रात 9 के बाद बंद हो जाएगी।यह मैसेज देखते ही तृप्ती ने जिस नंबर से मैसेज आया था उस नंबर पर फोन किया तो सामने वाले ने एक लिंक भेजकर उसे लोड करने को कहा।उक्त लिंक लोड करते ही तृप्ती के एकाउंट से धीरे धीरे 98 हजार 370 रुपए डेविट हो गए।तृप्ती के एकाउंट से पैसे डेविट होते ही उसके पैरो तले की जमीन खिसक गई।फौरन उसने पंतनगर पुलिस स्टेशन पहुँच कर इसकी शिकायत दर्ज कराई।पुलिस ने मामला दर्ज कर इसकी सुचना ईस्ट रीजन सायबर सेल पुलिस को दी।जहां के वरिष्ठ पुलिस निरिक्षक किशोर शिंदे के निर्देश पर यहां की पुलिस सक्रिय हो गई।


श्री शिंदे ने बताया की हमारे यहां कार्यरत महिला पुलिस कर्मचारी अर्चना कोटिएन ने फौरन पीड़ित महिला तृप्ती के एकाउंट से जिस नंबर पर उसके पैसे ट्रांसफर हुए थे उसे सीज कर दिया।उसके बाद ईमेल द्वारा संबंधित बैंक को सूचित कर पीड़ित महिला के डेविट हुए पैसे को वापस दिलवाने का दिशा निर्देश दिया है।श्री शिंदे ने बताया की हमारी महिला कर्मचारी की सक्रियता से पीड़ित महिला को उसके पैसे वापस मिल रहे हैं जिसकी हमे ख़ुशी है।उन्होंने महिला कर्मचारी अर्चना की जम कर सराहना की है।साथ ही साथ पीड़ित महिला व उसके परिजनों ने भी ईस्ट रीजन सायबर सेल पुलिस का आभार माना है।

Σχόλια


bottom of page