top of page
  • Writer's pictureBB News Live

जम्मू-कश्मीर के कश्मीरी पंडित,गैर-कश्मीरी प्रशासनिक अधिकारी एवं कर्मचारी !

प्रवासी नागरिक की सुरक्षा को लेकर NHRC सख्त !



मुंबई। जम्मू-कश्मीर के कश्मीरी पंडित,गैर-मुस्लिम कर्मचारियों और निर्दोष प्रवासी नागरिकों की हत्या की शिकायत राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के समक्ष दर्ज कि गई थी। राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने गृह सचिव,जम्मू कश्मीर के पुलिस महानिदेशक को नोटिस जारी करते हुए सख्त दिशा निर्देश जारी किए हैं !

शिकायतकर्ता भारतीय विकास संस्थान के अध्यक्ष डॉ.योगेश दुबे के द्वारा 3 जून 2022 को राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग में यह याचिका दायर की गई थी। अधिवक्ता आशीष राय (मुंबई उच्च न्यायालय) के द्वारा बताया गया कि राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने इस तरह की घटना क्रम को गंभीरता से संज्ञान लिया है।आयोग के द्वारा 24 जून 2022 को केस क्र.235/9/0/2022 के तहत शिकायत दर्ज की गई थी।आयोग द्वारा निर्देशित दिशा निर्देश के तहत गृह सचिव (भारत सरकार),पुलिस महानिदेशक (जम्मू और कश्मीर) और मुख्य सचिव (जम्मू और कश्मीर) से 4 सप्ताह के भीतर आयोग के समक्ष जवाब दिए जाने के लिए निर्देशित किया गया है।


आतंकियों ने कश्मीरी पंडित,गैर कश्मीरी अधिकारियों समेत एक दर्जन प्रवासिय नागरिकों को मार गिराया है। दो महिला शिक्षक,जिनमें से एक सिख को भी यहां के आतंकवादियों ने मार दिया है।आयोग ने कश्मीरी पंडित, गैर कश्मीरी प्रशासनिक अधिकारियों,प्रवासियों की निर्मम हत्या के मामले को ध्यान में रखते हुए स्वत: संज्ञान लिया है।आयोग पहले ही व्यक्त कर चुका है,कि आतंकवादियों द्वारा इस तरह की हत्याओं की दर्दनाक घटनाएं देश के लोकतांत्रिक ताने-बाने के लिए गंभीर खतरा हैं,जो यहां के नागरिकों के जीवन के अधिकार,स्वतंत्रता,समानता और गरिमा का उल्लंघन करती हैं।

Comentários


bottom of page