top of page
  • Writer's pictureBB News Live

लोखंडवाला में रहकर ठगी का करती है माँ बेटी

Updated: Apr 27, 2022

दिंडोशी न्यायालय से मुंह छुपाते भागी महिला ठग

लंदन की शाहिदा खान ने किया मामले का पर्दाफाश


मुंबई। मुंबई के लोखंडवाला जैसे पॉस इलाके में रहकर भोले भाले महिलाओ को आईएफएस ऑफिसर बनकर ठगने वाली दो महिलाओ के खिलाफ एमआईडीसी पुलिस थाने में दर्ज मामले की कल यानी 27 अप्रैल को सुनवाई हुई।जहां मा.न्यायाधीश उन ठग महिलाओ को जमकर फटकार लगाई हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अँधेरी पश्चिम स्थित लोखंडवाला क्रास रोड राजयोग बिल्डिंग बी विंग 703 में उमेरा सलीम खान व हक शनस सलीम खान नामक दो महिला ठग रहती हैं।जो की रिश्ते में माँ बेटी हैं।माँ खुद को वकील बताती है तो बेटी खुद को आईएफएस की ऑफिसर बताती है जो पूरी तरह झूठ बताया जाता है।उमेरा व शनस के काले कारनामो में असद नामक एक साथी भी शामिल बताया जाता है।जो की इनके लिए बिचौलिया का काम करता है।जिसका मुख्य धंधा ड्रग्स सप्लाई करना है।जिसके खिलाफ सोलापूर में ड्रग्स सप्लाई से जुड़ा एक मामला दर्ज है।इसके अलावा इनका इरसाद सरीफ नामक एक और साथी है।जो अपनी ऑफिस में लोगो को बुलवा कर परदे के पीछे रहकर सेबी के फ्लैटो की डीलिंग करवाता है।

सूत्र बताते हैं की पिछले एक दशक के भीतर दर्जनों लोग इनके ठगी का शिकार हो चुके हैं।एमआईडीसी पुलिस थाने में दर्ज मामले की कल दिंडोशी न्यायालय सुनवाई हुई है।जहां न्यायाधीश ने उपरोक्त ठगों को जमकर फटकारी लगाईं है साथ ही साथ पुलिस को जल्द जल्द इसमें अपना पक्ष रखने को कहा है।सूत्र बताते हैं उक्त महिलाएं उनके साथी न्यायालय के बाहर आते ही मिडिया से मुंह छुपाते हुए कलटी हो गए हैं।


लंदन में रहने वाली शाहिदा खान ने बताया की गत वर्ष नवंबर महीने में मुंबई के एमआईडीसी पुलिस ने एक पीड़ित की शिकायत पर अपराध क्रमांक 946/2021 भादवी 438,420,406,504,506 व 34 आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया था।शाहिदा खान ने यह भी बताया की असद नामक ड्रग्स पैडलर के माध्यम से उपरोक्त ठग महिलाओ ने उपरी सेटिंग लगाकर अपनी गिरफ्तारी से आज तक बच रही हैं।जबकि कल न्यायालय ने फटकार लगाते हुए उनके पासपोर्ट जप्त करने का भी आदेश पुलिस को दिया है।सूत्र बताते हैं की इन आरोपियों ने अंतरिम बेल के लिए अप्लाई किया हैं।जिसे न्यायालय ने रदद कर दिया है।इससे साफ़ जाहिर होता है की इन ठग महिलाओ की पुलिस जल्द गिरफ्तारी कर सकती है।बताया यह भी जाता है की इनके अधिवक्ता ने लिखकर दिया है की वह न्यायालय में 1 लाख 50 हजार रुपए जमा करने को तैयार हैं।लेकिन वे आज तक न्यायालय में उक्त पैसा जमा नही किए मतलब ये तथाकथित महिलाएं न्यायालय को भी गुमराह की हैं।

लंदन निवासी शाहिदा खान का यह भी आरोप है की इस रैकेट में अन्य कई लोग शामिल हैं जो की भोले भाले लोगो को आरोपियों तक पहुंचाने का काम करते हैं और जिनके झांसे में आकर लोग इन ठग महिलाओ के जाल में फंस जाते है।शाहिदा ने यह भी बताया की ये लोग सेबी का मकान दिलाने की आड़ में कई लोगो को अब तक अपना शिकार बना चुके हैं।इनके खिलाफ गोरेगांव पुलिस स्टेशन में भी एक महिला ने अपनी शिकायत देकर न्याय की गुहार लगाई है।इस मामले में भी आरोपियों ने 15 लाख रुपए से भी अधिक की ठगी की है।शाहिदा ने शासन प्रशासन से मांग की है की मुंबई पुलिस ऐसे ठग महिलाओ को फ़ौरन गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करे जिससे और लोग इनकी ठगी का शिकार होने से बच जाएँ ! साथ ही साथी फरियादी लोगो को न्याय मिल जाए !

bottom of page