top of page
  • Writer's pictureBB News Live

हीरो राजन कुमार अब कहलाएंगे "डॉक्टर राजन कुमार"

दिल्ली की यूनिवर्सिटी द्वारा 1 मई को नोएडा फ़िल्म सिटी में राजन कुमार को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से नवाजा जाएगा


मुंबई। गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा चुके हीरो राजन कुमार अब "डॉक्टर राजन कुमार" कहलाएंगे। जी हाँ, उन्हें उनकी तमाम उपलब्धियों को देखते हुए डॉक्टरेट की मानद उपाधि से नवाजा जा रहा है। 1 मई 2022 को नोएडा फ़िल्म सिटी में होने जा रहे एक भव्य समारोह में राजन कुमार को एआईआईपीपीएचएस स्टेट गवर्मेंट यूनिवर्सिटी दिल्ली द्वारा ऑनरेरी डॉक्टरेट की डिग्री दी जा रही है। परफार्मिंग आर्ट के क्षेत्र में पिछले 25 साल में उनके विशेष योगदान हेतु यह सम्मान दिया जा रहा है।

अनिल काशी मुरारका, पद्मश्री विमल जैन, डॉ पवन अग्रवाल ने राजन कुमार को शुभकामनाएं दी हैं और इन्हें एक डीज़रविंग कैंडिडेट बताया है।



राजन कुमार ने यूनिवर्सिटी और इसकी वाइस चांसलर डॉक्टर अनु भंडारी का आभार व्यक्त किया है।

एक कलाकार को डॉक्टरेट की मानद उपाधि से नवाजा जाना तमाम कलाकारों के लिए खुशी और गर्व की बात है। अब जबकि पूरे विश्व मे अजीब सा माहौल है मगर राजन कुमार ने चार्ली चैपलिन 2 के रूप में लोगों को लगातार हंसाने का काम जारी रखा है। मुम्बई से अनिल काशी मुरारका ने अपने खास शब्दो मे राजन कुमार को इस उपाधि के लिए बधाई दी और राजन कुमार की उपलब्धियों की चर्चा की क्योंकि राजन उनके कई प्रोग्रामों का हिस्सा रहे हैं।

वहीं डॉ पवन अग्रवाल का खुशी का ठिकाना नहीं है, उन्होंने अभी से ऐलान कर दिया है कि राजन कुमार जब दिल्ली से डॉक्टरेट की डिग्री लेकर लौटेंगे तो यहां मायानगरी में एक भव्य कार्यक्रम करके उन्हें एजीआई (अग्रवाल ग्रुप ऑफ इंस्टिट्यूट) द्वारा सम्मानित किया जाएगा।

पटना के विमल जैन, जिन्हें इस साल पद्मश्री से सम्मानित किया गया है, ने कहा कि राजन कुमार ने एक ऐतिहासिक कार्य कर दिया है। उन्हें डॉक्टरेट की डिग्री मिलना दरअसल कला, साहित्य का सम्मान करना है।

एक्शन डायरेक्टर टीनू वर्मा ने बताया कि राजन कुमार को डॉक्टरेट की मानद उपाधि दी जा रही है, यह उनके योगदान और उनकी उपलब्धियों का सम्मान है।

अफसाना प्रवीन ने भी राजन कुमार को बधाई दी।

सेलिब्रेटी जर्नलिस्ट और गीतकार गाज़ी मोईन ने कहा कि राजन कुमार जैसे कलाकार ज़माने में चमकने के लिए ही जन्म लेते हैं। उनके ढेरों कारनामे हैं, बेशुमार अवार्ड्स और रिकार्ड्स हैं मगर किसी यूनिवर्सिटी द्वारा डॉक्टरेट की ऑनरेरी डिग्री देना एक बड़ा अचीवमेंट है।

राजन कुमार ने अपनी डॉक्टरेट की डिग्री को अपने जीजा जी को समर्पित किया है, 30 अप्रैल को उनके जीजा जी की पहली बरसी है। कोरोना काल मे हंसते खेलते परिवार के अग्रज उनके जीजा जी का निधन हो गया था। यह उपाधि राजन कुमार के लिए बहुत ही स्पेशल है क्योंकि कहीं न कहीं उनके जीजा जी उन्हें बुलंदियों को छूते देखना चाहते थे, उनकी कला को जग जाहिर होते हुए देखना चाहते थे। अपने प्यारे जीजा जी को नम आंखों से याद करते हुए हीरो राजन कुमार ने डॉक्टरेट की डिग्री के लिए अपने परिवार के लोगों को विशेष धन्यवाद दिया।

Comments


bottom of page