top of page
  • Writer's pictureBB News Live

डोंबिवली, विट्ठलवाड़ी और वसई में लगी आग





कोई जनहानि नहीं

कंपनियाों को हुआ लाखों की संपत्ति का नुकसान

30 से 35 मोटरसाइकिल जलकर हुई खाक

डोंबिवली। डोंबिवली शहर में गुरुवार को भयानक आग लग गई। अधिकारियों ने बताया कि डोंबिवली (पूर्व) में टाटा पावर के करीब तड़के करीब 3 बजे बीच स्क्रैप गोदाम में भीषण आग लग गई। मौके पर फायर ब्रिगेड की एक दर्जन से अधिक गाड़ियां पहुंची और आग पर काबू पाने की कोशिश शुरू की। लेकिन सुबह तक आग धधकती रही। मिली जानकारी के मुताबिक, टाटा पावर गोलवली इलाके में कबाड़ के कई गोदाम है। जहां ठाणे जिले के विभिन्न हिस्सों से लाया गया स्क्रैप का सामान रखा जाता था। और फिर इसे विभिन्न उत्पाद बनाने वाली कंपनियों को बेंचा जाता था।

इलाके में फैला धुएं का गुबार

बताया जा रहा है कि करीब करीब परिसर में ऐसे 40 से 50 स्क्रैप गोदाम हैं, जो केवल पतरों को घेरकर बनाए गए है। इसमें ढेर सारी प्लास्टिक की बोतलें, कपड़े आदि चीजें रखी गई है, जिस वजह से आग ने कुछ ही देर में रौद्र रूप ले लिया। देखते ही देखते आग में 30 से 40 स्क्रैप गोदाम जलकर खाक हो गए। आग से इलाके में धुएं का गुबार फैल गया। आग इतनी भयंकर थी कि कल्याण, भिवंडी, उल्हासनगर, अंबरनाथ इलाकों से फायर ब्रिगेड कर्मियों को बुलाना पड़ा। गनीमत रही कि आग से कोई जनहानि नहीं हुई। आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। लेकिन आग के कारण लाखों रुपए के नुकसान की आशंका जताई जा रही है। आखिरकार 7 घंटे की मशक्कत के बाद डोंबिवली टाटा पावर गोलवली स्क्रैप यार्ड में लगी आग पर काबू पा लिया गया। खबर लिखे जाने तक कूलिंग का काम चल रहा है।




वसई के औद्योगिक एस्टेट में भी लगी भीषण आग

वसई पूर्व स्थित नवघर इंडस्ट्रियल एस्टेट में गुरुवार सुबह करीब 11:30 बजे एक प्लास्टिक कंपनी में आग लग गई। डेढ़ घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। हालांकि आग से कोई जानमाल का नुकसान नहीं हुआ, लेकिन कंपनियां जलकर खाक हो जाने से संपत्ति का भारी नुकसान हुआ। छापरिया इंडस्ट्रीज नवघर ईस्ट इंडस्ट्रियल एस्टेट में गीता इंडस्ट्रियल एस्टेट में एक नालीदार बॉक्स निर्माता है। इसके बाद आग निकटवर्ती शैलेश इंडस्ट्रियल एस्टेट में खिलौने और एल्यूमीनियम कोलैप्सेबल ट्यूब, मल्टीलेयर लेमिनेटेड ट्यूब बनाने वाली कंपनी कोलैप्सिबल ट्यूब कॉरपोरेशन तक फैल गई। कुछ ही देर में उसने रोद्र का रूप धारण कर लिया।

प्रमुख विशाल शिर्के का बयान

आग की सूचना मिलते ही पास के नवघर फायर स्टेशन के दमकलकर्मी मौके पर पहुंचे। इसके बाद अचोले मुख्य फायर स्टेशन और सनसिटी स्थित सब स्टेशन से 5 पानी के टैंकर और 5 फायर टेंडर मौके पर पहुंचे। आग पर काबू पाने की कोशिश शुरू हुई। दोपहर करीब 12 बजे हमें आग लगने की सूचना मिली। कंपनी के प्रवेश के लिए कोई जगह नहीं थी। इससे आग पर काबू पाने में दिक्कतें आईं, हालांकि आधे घंटे के अंदर आग पर काबू पा लिया गया। यह बात सनसिटी फायर स्टेशन के प्रमुख विशाल शिर्के ने कही। वही आग औद्योगिक कचरे के कारण लगने की आशंका है, यह औद्योगिक संपदा राजावाली खाड़ी के तट पर स्थित है और कंपनी का औद्योगिक कचरा यहीं डंप किया जाता है। बुधवार को भी इस कूड़े में आग लगने की घटना हुई थी। आग पूरी तरह से नहीं बुझने से अनुमान लगाया जा रहा है कि आग फैल गई और छापरिया इंडस्ट्रीज पर असर पड़ा।



विट्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन में जब्त बाइकों में लगी आग

विट्ठलवाड़ी पुलिस स्टेशन परिसर में जब्त 30 से 35 मोटरसाइकिलों में गुरुवार को आग लग गई। दमकलकर्मियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया है और एक बड़ी आपदा को टाल दिया। उल्हासनगर के विठ्ठलवाड़ी सहित हिललाइन पुलिस स्टेशन, सेंट्रल, उल्हासनगर के बाहर जब्त मोटरसाइकिलों का ढेर लगा हुआ है। ऐसी ही स्थिति उल्हासनगर और विठ्ठलवाड़ी ट्रैफिक पुलिस कार्यालय की है। पिछले हफ्ते सहायक पुलिस आयुक्त अजय कोली ने जब्त किए गए वाहनों की सूची बनाने और उन्हें नीलाम करने की संभावना के बारे में बात की थी। गुरुवार को जब पुलिस ने देखा कि मोटरसाइकिल में अचानक आग लग गई है तो उन्होंने अग्निशमन विभाग को फोन किया और खुद भी आग बुझाने का प्रयास किया। आखिरकार दमकलकर्मियों ने आग पर काबू पा लिया। लेकिन तब तक 30 से 35 मोटरसाइकिलें जल चुकी थीं। पुलिस इसकी जांच कर रही है और जब्त मोटरसाइकिलों को थाना परिसर में शिफ्ट करने की मांग की जा रही है।

Kommentare


bottom of page