top of page
  • Writer's pictureBB News Live

बीएमसी की छप्पड़ फाड़ कमाई, बन गया देश का सबसे बड़ा कॉर्पोरेशन





मुंबई। देश के सबसे अमीर सिविक बॉडी बृहन्मुंबई नगर निगम (बीएमसी) ने चालू 2023-24 के वित्त वर्ष में प्रॉपर्टी टैक्स के जरिए 2000 करोड़ से अधिक रूपये वसूले हैं। इसकी जानकारी खुद बीएमसी ने दी है। बीएमसी ने कहा कि उसने चालू वित्त वर्ष में संपत्ति कर के माध्यम से 2,213 करोड़ रुपये एकत्र किए हैं। बुधवार को जारी एक प्रेस रिलीज में, बीएमसी ने कहा कि असेसमेंट और कलेक्शन डिपार्टमेंट ने राशि एकत्र की है।

बीएमसी ने बताया कि वेस्टर्न सबर्ब्स में के-वेस्ट वार्ड में सबसे अधिक 174।15 करोड़ रुपये एकत्र किए गए हैं। इसके बाद एस-वार्ड से 170।77 करोड़ रुपये वसूले गए हैं। वहीं एच-ईस्ट वार्ड से 168।34 करोड़ रुपये की वसूली हुई है। प्रेस रिलीज में कहा गया है कि नगर निकाय ने सरकारी स्वामित्व वाली संपत्तियों से 9।51 करोड़ रुपये का प्रॉपर्टी टैक्स कलेक्ट किया है। विभाग ने जिन शीर्ष 10 संपत्ति मालिकों को कर संग्रह के लिए खोजा, उनमें पूर्वी उपनगरों में एस-वार्ड की एक निजी कंपनी थी। कंपनी का संपत्ति कर बिल 49।12 करोड़ रुपये था, इसके बाद शहर के जी-साउथ वार्ड की एक अन्य कंपनी का संपत्ति कर बिल 20।84 करोड़ रुपये था।

विज्ञप्ति में कहा गया है कि विभाग वर्तमान में पिछले बकाया की वसूली के अलावा शहर और उसके उपनगरों में बड़े संपत्ति कर बिल बकाया की वसूली पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। सिविक बॉडी ने इस बात पर भी प्रकाश डाला कि वित्तीय वर्ष 2023-24 के लिए संपत्ति कर संग्रह लक्ष्य को पूरा करने के लिए विभिन्न तरीकों से निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं।

बीएमसी ने कहा कि इसके 24 वार्ड कार्यालयों में लगातार संपत्ति कर के भुगतान के लिए नागरिकों की भारी भीड़ देखी जा रही है। बीएमसी ने नागरिकों से 31 मार्च की समय सीमा से पहले अपने कर का भुगतान करके सहयोग करने का आग्रह किया है। सभी 24 प्रशासनिक वार्डों में नागरिक सुविधा केंद्र और किले में बीएमसी मुख्यालय 30 मार्च तक सुबह 8 बजे से रात 10 बजे तक और 31 मार्च की आधी रात तक खुले रहेंगे ताकि संपत्ति मालिक कर का भुगतान कर सकें।

Comments


bottom of page