top of page
  • Writer's pictureBB News Live

आभूषण की दूकान पर बुलाकर चैन की छिनैती

मुंबई टू गोवा टू दादर से आरोपी हुआ गिरफ्तार



रवि निषाद/मुंबई। तिलक नगर पुलिस की हद के एमजी रोड की एक आभूषण की दूकान पर बुलाकर अपने ही दोस्त की चैन की छिनैती कर फरार हुए आरोपी को पुलिस ने दादर के एक लॉज से गिरफ्तार किया है।आरोपी का नाम पीयूश कुमार प्रवीणचंद राजगोर (38) बताया जाता है।


प्राप्त जानकारी के अनुसार पियूष कुमार (38) ने 27 मई को दोपहर दो बजे के करीब अपने दोस्त सुकेशन गौतम श्रृंगारी (38) को तिलकनगर पुलिस की हद के एमजी रोड स्थित सुवर्णगंगा जेवलर्स के पास बुलाया।उसके बाद उसने उससे कहा की मुझे कुछ आभूषण लेने है जिसके लिए 50 हजार रुपए की जरूरत है।जिस पर पियूष ने कहा की मेरे पास नगदी नहीं है।उसके बाद उसने सुकेशन के पास की 10 ग्राम की चैन ले ली और फरार हो गया।जिसकी शिकायत सुकेशन ने तिलक नगर पुलिस से की।


पुलिस ने उसकी शिकायत पर यह मामला अपराध क्रमांक 444/2022 भादवी 420 के तहत दर्ज कर लिया।वरिष्ठ पुलिस निरिक्षक सुनील काले के निर्देश पर दर्ज हुए इस मामले की जांच की जिम्मेदारी इस पुलिस थाने में नवनियुक्त हुई दक्ष महिला पुलिस अधिकारी पोर्णिमा जी हंडे व यहां के डैशिंग पुलिस अधिकारी शरद नानेकर व उनकी टीम को सौंपी गई।यहां के अपराध निरिक्षक राठौड़ की देखरेख में मामले की जांच श्री नानेकर की टीम में शामिल सुनील पाटिल,संतोष बनकर व विशाल भालेराव ने शुरू की।


प्राथमिक जांच पड़ताल में पुलिस को मालुम पड़ा की आरोपी पियूष कुमार प्रवीणचंद राजगोर 29 मई को मडगांव गोवा में था।उसके बाद 30 मई को उसका लोकेशन दादर के होटल स्टे वेल में दिखाया।इस बात की जानकारी मिलते ही शरद नानेकर व पोर्णिमा हंडे व उनकी टीम ने दादर के स्टे वेल होटल पहुंच कर पूरी जानकारी ली।जहां मालुम पड़ा की आरोपी यहां के कमरा नंबर 206 में ठहरा हुआ है।उसके बाद पीएसआई शरद नानेकर व उनकी ने कमरा नंबर 206 से आरोपी पियूष कुमार राजगोर को हिरासत में लिया है।सूत्र बताते हैं की आरोपी ने अपना गुनाह कबूल किया है।इस मामले की अधिक जांच इस पुलिस थाने में नवनियुक्त हुई दक्ष महिला पुलिस अधिकारी श्रीमती हंडे व उनकी टीम कर रही है।

Comments


bottom of page