top of page
  • Writer's pictureBB News Live

मदद के बदले 36 वर्षीय महिला को बनाया हवस का शिकार

पुलिस निरिक्षक के खिलाफ बलात्कार का मामला दर्ज !


मुंबई। पंतनगर पुलिस की हद में रहने वाली एक 36 वर्षीय महिला की मदद करने की एवज में उक्त महिला को अपनी हवस का शिकार बनाने बेहद ही घिनौना कृत किए जाने का मामला सामने आया है।इस मामले में घटना को अंजाम देने वाला कोई दुसरा नहीं बल्कि यहां का एक पुलिस निरिक्षक बताया जाता है।जिसके खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज कर अब जांच शुरू की है।



पंतनगर पुलिस के अनुसार घाटकोपर पूर्व रमाबाई कॉलोनी में 36 वर्षीय नीता (नाम बदला) नामक महिला रहती है।उस महिला ने किसी मामले को लेकर वर्ष 2019 में पंतनगर पुलिस स्टेशन में एक लिखित शिकायत पत्र दिया था।जिसके जांच पड़ताल की जिम्मेदारी यहाँ के तत्कालीन पुलिस निरिक्षक गंगाधर पाटिल के पास थी।पाटिल ने उक्त महिला की मदद करने का उसे भरोसा दिलाते हुए पहले उससे अच्छी तरह से दोस्ती की।


बाद में धीरे धीरे उससे नजदीकियां बना कर वाट्सअप पर उससे प्रेम प्रसंग शुरू किया।पीड़िता की शिकायत के अनुसार गंगाधर पाटिल ने गत वर्ष यानी 21/04/2021 के दिन मौके का फायदा उठाकर उस महिला के घर पहुंचा और उसे डरा धमका कर उसके साथ जबरन अपना मुंह काला किया।पाटिल इतने में नहीं रुका उसने उक्त महिला की वीडियो बना कर पीड़िता को ब्लैकमेल करके दर्जनों बार उसे अपनी हवस का शिकार बनाया है।बार बार की परेशानी से तंग आकर आखिर पीड़ित महिला ने इस मामले की शिकायत पंतनगर पुलिस से की।पुलिस ने इस मामले की गंभीरता को देख अपराध क्रमांक 272/2022 भादवी 376 (2),(A),(1),(N) के तहत मामला दर्ज किया है।


पुलिस सूत्र बताते हैं की अतिरिक्त पुलिस आयुक्त संजय दराडे,पुलिस उपायुक्त प्रशांत कदम,सहायक पुलिस आयुक्त अर्जुन नेरलेकर व वरिष्ठ पुलिस निरिक्षक रविदत्त सावंत के निर्देश पर मामले की जांच पुलिस निरिक्षक अजय घोसालकर को दी गई है।सूत्र बताते हैं की मामला दर्ज होने की जानकारी मिलते ही पुलिस निरिक्षक गंगाधर पाटिल भूमिगत हो गया है।बताया जाता है की पाटिल अब रिटायर्ड भी हो चुका है जिसकी तलाश पुलिस निरिक्षक अजय घोसालकर व उनकी टीम कर रही है।

bottom of page