top of page
  • Writer's pictureMeditation Music

263 करोड़ के ITR घोटाले में टॉप IPS अधिकारी का पति गिरफ्तार, ED का एक्शन



 Top IPS officer's husband arrested in ITR scam of Rs 263 crore - ED action
Top IPS officer's husband arrested in ITR scam of Rs 263 crore - ED action

मुंबई: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में बड़ा एक्शन लिया है. ईडी के मुंबई जोनल ऑफिस ने 263 करोड़ रुपए के आयकर रिटर्न (ITR) धोखाधड़ी मामले में महाराष्ट्र की एक सीनियर IPS अधिकारी के पति पुरुषोत्तम चव्हाण को गिरफ्तार किया है. सूत्रों के मुताबिक IPS अफसर के घर तलाशी के दौरान कई संपत्तियों के बारे में आपत्तिजनक दस्तावेज मिले हैं.

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में बड़ा एक्शन लिया है. ईडी के मुंबई जोनल ऑफिस ने 263 करोड़ रुपए के आयकर रिटर्न (ITR) धोखाधड़ी मामले में महाराष्ट्र की एक सीनियर IPS अधिकारी के पति पुरुषोत्तम चव्हाण को गिरफ्तार किया है. सूत्रों के मुताबिक IPS अफसर के घर तलाशी के दौरान कई संपत्तियों के बारे में आपत्तिजनक दस्तावेज मिले हैं.

इससे पहले इस मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था. गिरफ्तार किए गए शख्स तानाजी मंडल अधिकारी, भूषण पाटिल, राजेश शेट्टी (जो न्यायिक हिरासत में हैं) और राजेश बृजलाल बटरेजा ईडी की हिरासत में हैं. ईडी ने तानाजी मंडल अधिकारी और दूसरे आरोपियों के खिलाफ आयकर विभाग के साथ धोखाधड़ी से टीडीएस रिफंड बनाने और जारी करने के लिए सीबीआई दिल्ली की एफआईआर के आधार पर जांच शुरू की थी.

सबूत नष्ट करके जांच में बाधा डालने की कोशिश

ईडी की जांच से पता चला है कि राजेश बृजलाल बटरेजा और पुरषोत्तम चव्हाण नियमित रूप से संपर्क में थे और हवाला लेनदेन और पीओसी के डायवर्जन से संबंधित आपत्तिजनक संदेश साझा करते थे. 19 मई को पुरुषोत्तम चव्हाण के आवासीय परिसर में भी तलाशी अभियान चलाया गया, जिसमें कई संपत्ति दस्तावेज, विदेशी मुद्रा और मोबाइल फोन बरामद और जब्त किए गए. यह भी पाया गया कि पुरषोत्तम चव्हाण ने सबूतों को नष्ट करके जांच में बाधा डालने की कोशिश की.

आरोपी को 27 मई तक ईडी की हिरासत में भेजा

पुरषोत्तम चव्हाण को 20 मई को विशेष न्यायालय (पीएमएलए), मुंबई के समक्ष पेश किया गया था. न्यायालय ने उसे 27 मई तक ईडी की हिरासत में भेज दिया है. इससे पहले इस मामले में करोड़ों रुपये की अचल/चल संपत्ति जब्त की गई थी. अब तक 168 करोड़ रुपये की पहचान कर ली गई है. इसे जब्त/कुर्क भी कर लिया गया है.

Comments


bottom of page