top of page
  • Writer's pictureBB News Live

पांच दिन की पुलिस कस्टडी में भेजे गए अपहरण- बलात्कार का आरोपी-दिल्ली से हुए थे गिरफ्तार

Updated: Mar 10

पंतनगर पुलिस के मिसिंग स्टॉफ का सराहनीय काम


मुंबई। घाटकोपर पंतनगर पुलिस की हद के रमाबाई कॉलोनी में रहने वाली एक 17 वर्षीय युवती को एक 21 वर्षीय युवक ने पहले अपने प्रेम जाल में फंसाया फिर उसके बाद उक्त युवक ने उस युवती को लेकर उत्तर प्रदेश फरार हो गया था।दो बार के अथक प्रयास से पुलिस ने पीड़ित युवती को उस युवक के चंगुल से छुड़ाने में सफलता पाई है।लेकिन उक्त युवक पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल हो गया है।जिसे 7 दिन की कड़ी मेहनत के बाद दिल्ली से पंतनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है।साथ में उसको हर मौके पर मदद करने वाला साथी भी पुलिस के जाल में फंस गया है।जिनका ट्रांजिट रिमांड लेकर पुलिस मुंबई आई है।पकड़े गए आरोपी का नाम निजामुद्दीन जलालुद्दीन खान (21) व उसके साथी का नाम निजाम अबरार खान (20) बताया जाता हैं।आरोपियों को पुलिस ने न्यायालय में पेश किया जहां पर मा.न्यायाधीश ने पांच दिन की पुलिस कस्टडी में भेजा है।

गौरतलब है की घाटकोपर पूर्व स्थित रमाबाई कॉलोनी में रहने वाली प्रिया (नाम बदला हुआ) नामक एक 17 वर्षीय युवती अपने परिजनों के साथ रहकर दसवी की शिक्षा ग्रहण कर रही थी।जिसे यहां पर रहकर सिलाई काम करने वाले एक 21 वर्षीय मुस्लिम युवक ने पहले अपने प्रेम जाल में फंसाया,उसके बाद उसको बहला फुसला कर बड़े बड़े लोभन प्रलोभन देकर उत्तर प्रदेश के सीतापुर लेकर फरार हो गया था।जिसकी शिकायत दर्ज होते ही ईष्ट रीजन के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त विनायक देशमुख,जोन 7 के पुलिस उपायुक्त पुरुषोत्तम कराड, घाटकोपर विभाग के सहायक पुलिस आयुक्त दीपक निकम के निर्देश पर वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेश पी. केवले ने इस मामले के जांच की जिम्मेदारी मिसिंग स्टॉफ के पुलिस सब इंस्पेक्टर सुभाष हमरे व महिला पुलिस कांस्टेबल सोनाली शिंदे को सौंपी थी।

बताया जाता है की पुलिस सब इंस्पेक्टर श्री हमरे व श्रीमती शिंदे की टीम ने फ़ौरन उक्त प्रेमी जोड़ी को ट्रेस करते हुए उत्तर प्रदेश के सीतापुर के लिए रवाना हो गए थे।वहां पहुंच कर पुलिस की इस टीम ने मानवी व तांत्रिक जांच पड़ताल से गुप्त जानकारी निकाली।लेकिन उसके पहले ही उक्त गांव के लोगो की मदद व आरोपी युवक के परिजनों की मदद से उक्त प्रेमी वहां से फरार हो गया था।जिसके चलते पंतनगर पुलिस की उक्त टीम लौट कर मुंबई आ गई थी।उसके बाद भी पुलिस की इस टीम हार नहीं मानी।उनकी तलाश में एड़ी चोटी का जोर लगा कर पुनः उन्हें ट्रेस किया।उसके बाद पंतनगर के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेश केवले के निर्देश पर श्री हमरे, श्रीमती शिंदे व बड़गुज्जर नामक पुलिस कर्मचारी फौरन हवाई जहाज से लखनऊ पहुंचे वहां से सीतापुर पहुंच कर प्रिया नामक उक्त 17 वर्षीय युवती को अपने कब्जे में ले लिए और उसे लेकर पुलिस की यह टीम मुंबई आई थी।यहां के पुलिस सूत्र बताते है की इस मामले का आरोपी युवक निजामुददीन जलालुद्दीन खान व उसका साथी निजाम अबरार खान अपने सगे संबंधियो की मदद से उस समय मौके पर युवती को छोड़ कर फरार हो गए थे।जिसकी तलाश के लिए पंतनगर पुलिस स्टेशन का मिसिंग स्टॉफ लगातार प्रयास कर रहा था।इस संदर्भ में यहां के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक श्री केवले ने बताया की हमारी पुलिस अपनी पूरी ताकत से आरोपी की तलाश कर रही थी।इसी बीच आरोपी का पुनः मौजूदा लोकेशन मिला जिसे हिरासत में लेने के लिए पुनः पुलिस लखनऊ होते हुए बाराबंकी पहुंची।जहां पर आरोपी करीब एक सप्ताह ठहरा हुआ था।लेकिन अचरज की बात यह है की वह आरोपी मुंबई पुलिस के पहुंचने के पहले उक्त गांव से भाग कर दिल्ली पहुंच गया और निजाम खान के सहयोग से हिन्दुस्थान से बिदेश भागने की फिराक में था।लेकिन पुलिस की इस टीम में शामिल पीएसआई सुभाष हमरे पुलिस कर्मचारी सचिन गांजले,योगेश नवले व पुलिस उपायुक्त कार्यालय में कार्यरत महिला पुलिस कर्मचारी रूपाली हाडवले ने अपना धैर्य नहीं खोया और आरोपी का पीछा करते हुए बाराबंकी से लखनऊ और लखनऊ से सीतापुर और सीतापुर से दिल्ली पहुंचे पर जहां मानवी व तांत्रिक जांच कर 7 मार्च 2024 के दिन अलसुबह आरोपी निजामुद्दीन खान (21) व उसके प्रमुख साथी निजाम खान (20) को गिरफ्तार कर लिया है।जिनका ट्रांजिट रिमांड लेकर पंतनगर पुलिस मुंबई आई है।सूत्रो का कहना है की अपहरण-बलात्कार सह पोक्सो के इन दोनों आरोपियों को पुलिस ने कल न्यायालय में पेश किया है।जहां पर मा.न्यायाधीश ने आरोपियों को 13 मार्च तक पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश दिया है।अब इस मामले की अधिक जांच अब पुलिस निरीक्षक श्री कसार व उनकी टीम कर रही है।

Comments


bottom of page