top of page
  • Writer's pictureBB News Live

विक्रोली ट्रैफिक पुलिस चौकी में सुशासन शुरू


मुंबई। घाटकोपर पूर्व स्थित विक्रोली ट्रैफिक पुलिस चौकी में तत्कालीन दबंग प्रभारी पुलिस निरीक्षक मनोहर अहवाड़ का इस पुलिस स्टेशन से तबादला होने के बाद यहां सभी अधिकारी कर्मचारी राहत की सांस ले रहे हैं।उसके यहां से जाने के बाद यहां नवनियुक्त वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक रजनी सालुंखे की देखरेख में चल रहे कार्यभार में अब सुशासन का माहौल बन गया है।

पुलिस के विशेष सूत्र बताते है की विक्रोली ट्रैफिक पुलिस चौकी में जब तक प्रभारी पुलिस निरीक्षक मनोहर अहवाड़ नाम दबंग अकार्यक्षम था तब तक इस पुलिस स्टेशन का माहौल पूरी तरह से खराब था।वह अपने विशेष सहयोगी वसुलीबाज राजेंद्र जाधव के माध्यम से इस पुलिस चौकी के हद के ट्रांसपोर्टरों,होटल ब्यवसाइयो, विकासको व अन्य धंधा ब्यापार करने वालो से सिर्फ वसूली करवाने का काम दिन रात करता था।जिससे उसके व जाधव के खिलाफ गहरा आक्रोश फ़ैल रहा था।मनोहर अहवाड़ की एक खाशियत थी की उसके मोबाइल में जिसका नंबर फिट रहता था उसी का फोन वह उठाता था बाकी किसी भी अननोन नंबर के फोन को वह नहीं उठाता था।सूत्र बताते हैं की उससे पीड़ित एक पुलिस कर्मी की पत्नी की गंभीर शिकायत पर उच्च अधिकारियो ने जांच पड़ताल करवाकर उस तथाकथित दबंग अधिकारी का यहां से तबादला कर दिया है।अब यहां काफी सुशिक्षित सभ्य कर्मठ व ईमानदार महिला रजनी सालुंखे को यहां वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक के तौर पर नियुक्ति हुई है।जो की ट्रैफिक पुलिस के नियम कानून का पालन कर काफी सराहनीय काम कर रही हैं।उनके यहां नियुक्त होने के बाद जहां यहां के सभी अधिकारी कर्मचारी बेहद सकून महसूस कर रहे हैं वही सुशासन का माहौल बन गया है।सभी अधिकारी कर्मचारी एक दूसरे के कंधे से कंधा मिलाकर बेहद ही सराहनीय काम कर रहें।पुरे विक्रोली ट्रैफिक विभाग का ब्यापारी वर्ग विकासक वर्ग ट्रांसपोर्टर वर्ग व स्थानीय निवासियो में उक्त दबंग अधिकारी के भय खत्म हो गए है।चौतरफा सुशासन की सुगन्ध आ रही है।श्रीमती सालुंखे के कार्यो की लोग सराहना भी करना शुरू कर दिए हैं।

Comments


bottom of page