top of page
  • Writer's pictureBB News Live

रेल प्रशासन की अनदेखी से दिवा के निवासियों में आक्रोश



मुंबई। रेल मंत्रालय जहां रेलवे को अत्याधुनिक  बनाने की कवायद में हरसंभव प्रयास कर रहा है वहीं  मध्य रेल के अत्यंत व्यस्ततम रेल स्टेशनो में  गिने जाने वाले दिवा स्टेशन और वहां से यात्रा करने वाले यात्रियों की समस्याओं पर गौर नहीं कर रहा है।    महत्वपूर्ण बात यह है कि साढ़े सात लाख से अधिक आबादी वाले दिवा के निवासियों के लिए अभी तक एक भी लोकल ट्रेन मुंबई के लिए नहीं चलाई गई। जिसके कारण यहां के लोगों को सुबह के समय मुंबई जाने के लिए लोकल ट्रेन में भेड़ बकरियों की तरह यात्रा करनी पड़ती हैं।  स्थानीय निवासियों का कहना है कि दिवा में लगातार लोग बसते जा रहे हैं


जिससे दिवा की जनसंख्या लगातार बढ़ रही है। आने वाले अधिकतर लोग दैनिक रोजमर्रा के चलते दिवा से मुंबई छत्रपति शिवाजी टर्मिनस तक प्रति दिन यात्रा करते हैं लेकिन लगातार बढ़ रहे यात्रियों की संख्या के बावजूद मध्य रेल प्रशासन लोकल ट्रेनों की संख्या बढ़ाने को तैयार नहीं है। बता दें कि वर्तमान में जितनी लोकल ट्रेनों कल्याण से मुंबई के लिए चलाई जाती हैं उनमें से 40प्रतिशत ट्रेनों का दिवा स्टेशन पर ठहराव नहीं है। जिसके कारण दिवा के स्थानीय लोगों में मध्य रेल प्रशासन के प्रति गहरा आक्रोश व्याप्त है।  समाजसेवक अमित दुबे, संजीव तिवारी ने बताया कि  रेल प्रशासन  यहां के रेल यात्रियों की सुध नहीं ले रहा है ।


जिसके कारण यात्रियो की मुंबई की यात्रा सुबह के समय काफी कष्टदायी हो गई है। स्थानीय समाजसेवक विद्या सागर दुबे का कहना है कि दिवा में वर्तमान समय में सात से आठ प्लेटफार्म हैं जहां से मुंबई के लिए लोकल ट्रेन चलाई जा सकती है। लेकिन अभी तक रेल मंत्रालय  ने दिवा के लोगों की समस्या पर गौर नहीं किया। विद्यासागर दुबे ने बताया कि सुबह सात बजे से दस बजे तक कल्याण की ओर से आने वाली ट्रेनों दिवा के लोग चढ़ नहीं पाते हैं मजबूरन यहां के लोगों को कोपर स्टेशन जाकर वहां से मुंबई की ट्रेन पकड़नी पड़ती है। चेताया है कि सुबह 7से 11के बीच स्थानीय यात्रियों को रेल प्रशासन के ढुलमुल रवैए के चलते काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है क्योंकि सुबह 7से 11के बीच कल्याण से सी एस टी की ओर जाने वाली किसी भी तेज ट्रेनों का ठहराव यहां नहीं है।


दिवा के जाने माने समाजसेवक ओर महाराष्ट्र उत्तर भारतीय महासंगठन के सचिव बजरंग शर्मा ने कहा कि प्रति दिन दिवा से मुंबई के लिए दो लाख से अधिक यात्री लोकल ट्रेन से मुंबई सी एस टी की यात्रा करते हैं लेकिन यहां से अभी तक एक भी लोकल ट्रेन रेल प्रशासन की ओर से नही चलाई जा सकी है। जबकि लंबे अरसे से दिवा वासी यहां से मुंबई के लिए लोकल ट्रेन चलाने की मांग कर रहे हैं।

Commentaires


bottom of page