top of page
  • Writer's pictureBB News Live

मौज-मस्ती के लिए रोकी गाड़ी तो पड़ेगा भारी, दर्ज होगा क्रिमिनल केस! संडे को कटा 264 का चालान




मुंबई। मुंबई ट्रांस-हार्बर लिंक (एमटीएचएल) यानी अटल सेतु देश में समुद्र पर बना सबसे लंबा पुल है। पीएम मोदी ने अटल सेतु का शुभारंभ शुक्रवार को किया था। तब से एमटीएचएल पर नियमों के उल्लंघन के सैकड़ों मामले सामने आ चुके है। कई लोग अटल सेतु पर यातायात नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे है। सोशल मीडिया पर ऐसे कई वीडियो मौजूद है। हालांकि, अब पुलिस प्रशासन ऐसे लोगों पर सख्ती दिखा रहा है और कार्रवाई कर रहा है। पुलिस ने बताया कि अटल सेतु पर अनावश्यक रूप से अपने वाहनों को रोककर तस्वीरें खींचने और मौज-मस्ती करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गयी है। रविवार को कम से कम 264 मोटर चालकों पर 500 रुपये का जुर्माना लगाया गया। यह कार्रवाई समुद्री पुल पर वाहनों की आवाजाही प्रभावित करने वालों के खिलाफ की गयी।

मुंबई और नवी मुंबई की ट्रैफिक पुलिस ने समुद्री पुल एमटीएचएल पर वाहन रोकने पर चालकों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने की चेतावनी दी है।

नवी मुंबई के न्हावा शेवा और मुंबई के सेवरी के बीच बना ‘अटल सेतु’ देश का सबसे लंबा समुद्री ब्रिज है। 18 हजार करोड़ रुपये की लागत से बना छह लेन वाला यह ब्रिज 21.8 किमी लंबा है। जिसका उद्घाटन शुक्रवार को प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था, जबकि शनिवार सुबह से यह जनता के लिए खोल दिया गया।

मुंबई के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, दक्षिण-मध्य डिवीजन के एसीपी अब्दुल सैय्यद और वडाला ट्रैफिक डिवीजन के एपीआई शरद पाटिल के नेतृत्व में टीमों ने 120 उल्लंघनकर्ताओं को दंडित किया। सभी का मोटर वाहन अधिनियम की धारा 122 और 177 के तहत चालान काटा गया।

नवी मुंबई ट्रैफिक पुलिस के डीसीपी तिरूपति काकड़े के मुताबिक, 'हमने रविवार को रात 9 बजे तक 144 मोटर चालकों को अटल सेतु पुल पर रुकने के लिए दंडित किया। हम वाहन चालकों से अपील करते हैं कि वे पुल पर न रुकें। पुल पर वाहन बहुत तेज़ गति से गुजरते हैं और भारी वाहन भी यहां से जाते हैं। एक लापरवाही से समुद्र के बीच बने इस पुल पर बड़ा हादसा हो सकता है।

मुंबई पुलिस के संयुक्त पुलिस आयुक्त (यातायात) प्रवीण पडवाल ने कहा कि अटल सेतु पर वाहनों को रोकने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। भारतीय दंड संहिता (IPC) के तहत भी एक्शन लिया जाएगा। वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “हम वाहन चालकों से अपील करते हैं कि वे वाहन न रोकें और अटल सेतु पर न उतरें। ऐसा करके लोग न सिर्फ अपनी बल्कि दूसरे लोगों की जान भी खतरे में डाल रहे हैं। हमने एमएमआरडीए को पुल पर 'नो स्टॉपिंग', 'नो हाल्टिंग' बोर्ड लगाने के लिए कहा है।

---


Comments


bottom of page