top of page
  • Writer's pictureBB News Live

महाराष्ट्र के राजस्व विभाग, गृह विभाग सचिव और  अतिरिक्त सचिव अधिकारियों की अब खैर नहीं !

केंद्र विशेषाधिकार समिति अध्यक्ष सुनील कुमार सिंह ने तत्काल करवाई के निर्देश दिए, मामला सांसद गोपाल शेट्टी द्वारा भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेई जी की प्रतिमा स्थापित करने हेतु अनुमति देने का है


मुंबई । महाविकास आघाड़ी सरकार ने महाराष्ट्र में अपने शासन काल में कई पाप किए होंगे परन्तु पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई जी की प्रतिमा स्थापित करने में असहयोग करना और जानबूझकर देर करना, सांसद गोपाल शेट्टी जैसे निष्ठावंत जनप्रतिनिधिको एक मात्र अनुमति के लिए प्रताड़ित करने का महापाप कर सारी हदें पार कर दी थी। सांसद गोपाल शेट्टी ने दिनांक १८ जुलाई को विशेषाधिकार समिति के सभापति श्री सुनील कुमार सिंह से गुहार लगाई थी की "भारतरत्न श्री अटल बिहारी वाजपेई की प्रतिमा निर्माण की अनुमति के लिए १४ अनुमति प्राप्त करने के पश्चात एक मात्र अनुमति के लिए महाराष्ट्र  राजस्व विभाग के अधिकारी आशिष कुमार सिंह और राज्य के मुख्य सचिव मनुकुमार श्रीवास्तव ने संयुक्त बैठक के पश्चात भी कोई उत्तर नहीं दिए और न ही पुनः पुनः मेरे संपर्क के बावजूद न भेंट की न ही जवाब तलब करने की तसदी ली।"


 केंद्र के लोकसभा विशेषाधिकार समिति के अध्यक्ष श्री सुनील कुमार सिंह ने महाराष्ट्र के इन अफसरों के गैर जिम्मेदाराना हरकत की गंभीरतापूर्वक दखल ली है और    दि. २२ जुलाई २०२२ को, नितिन करीड(राजस्व सचिव),  आशिष कुमार सिंह और  राज्य के मुख्य सचिव मनुकुमार श्रीवास्तव के खिलाफ कारवाई के लिए 'फैक्चुअल नोटिस' जारी कि है। महाराष्ट्र सरकार के पब्लिक ग्रीवेंस एंड पेंशन विभाग के अधिकारी श्री हिमांशु शर्मा और राज्य के मुख्य सचिव को यह 'तथ्यात्मक नोटिस'  के जरिए नोटिस मिलने के पंद्रह दिनों की समय अवधि में करवाई के आदेश जारी किए गए हैं। अतः सांसद गोपाल शेट्टी ने माध्यमों से बात करते वक्त कहा की "अति सदा वर्ज्यते!! महाराष्ट्र महा विकास आघाड़ी के शासनकाल के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई जी जैसे महान राष्ट्र सपूत की प्रतिमा निर्माण की अनुमति हेतु मुझे प्रताड़ित किया जाना, एक संवैधानिक पद पर कार्यरत मुझ जैसे जनप्रतिनिधि के विषय को नजर अंदाज करना और जानबूझकर विश्वनेता, राजनैतिक महान विभूति श्री अटल जी की प्रतिमा स्थापन अनुमति न देने का कार्य एक घोर पाप इन अधिकारियों ने किया था !!


अब इनकी खैर नहीं" सां.शेट्टी ने इस अवसर पर केंद्र सरकार के विशेअधिकर समिति के अध्यक्ष स.श्री सुनील कुमार सिंह जी का विशेष धन्यवाद किया है। और अब शीघ्र ही महाराष्ट्र के उत्तर मुंबई के कांदिवली पूर्व स्थित श्री अटल बिहारी वाजपेई सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के प्रांगण में भारतरत्न पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेई जी की प्रतिमा के निर्माण की आशा व्यक्त की है। -

Commentaires


bottom of page