top of page
  • Writer's pictureMeditation Music

महाराष्ट्र में दिल्ली पुलिस की बड़ी कार्रवाई



Big action by Delhi Police in Maharashtra - SIMI terrorist arrested - was absconding for 23 years
Big action by Delhi Police in Maharashtra - SIMI terrorist arrested - was absconding for 23 years

SIMI का दहशतगर्द गिरफ्तार, 23 साल से था फरार

जलगांव : महाराष्ट्र के जलगांव जिले से सिमी (स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया) से जुड़े संदिग्ध दहशतगर्द को गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने कई साल से वांटेड हनीफ शेख को भुसावल शहर से पकड़ा है। वह 23 साल से फरार था। राजधानी से आये पुलिस के विशेष दस्ते ने भुसावल शहर में यह कार्रवाई की। आरोपी हनीफ शेख को मिल्लतनगर स्थित उसके घर से गिरफ्तार किया गया। बताया जा रहा है कि उसका आतंकी संगठन सिमी से संबंध है। फरार होने के बाद वह भुसावल में रहकर एक स्कूल में शिक्षक के तौर पर काम कर रहा था।

दिल्ली से आई स्पेशल टीम

पुलिस के मुताबिक, हनीफ शेख के खिलाफ दिल्ली के न्यू फ्रंट कॉलोनी थाने में 2001 में यूएपीए समेत अन्य धाराओं के तहत केस

दर्ज किया गया था। मामला दर्ज होने के बाद से वह फरार था। 2001 में हुए इस अपराध का संबंध प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन

'सिमी' से है। पुलिस ने गोपनीय जानकारी और तकनीकी विश्लेषण के जरिए हनीफ का पता लगाया।

भुसावल में सनसनी

गुरुवार दोपहर को दिल्ली से आई पुलिस टीम ने बाजारपेठ पुलिस की मदद से हनीफ को भुसावल के खडका रोड दत्तनगर मेहराज

बिल्डिंग से दबोच लिया। इस टीम में दिल्ली स्पेशल सेल के इंस्पेक्टर पवन कुमार, एसआई सुमित, नवदीप समेत कुल 15 पुलिसकर्मी थे। अचानक हुई इस कार्रवाई से जिले में सनसनी मच गयी है।

दिल्ली ले जाया गया

संदिग्ध शेख को हिरासत में लेने के बाद उसकी मेडिकल जांच करवाई गई और तुरंत भुसावल कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट से ट्रांजिट रिमांड मिलने के बाद दिल्ली पुलिस की विशेष टीम शेख को लेकर तुरंत दिल्ली रवाना हो गई।

क्या है आरोप?

23 साल पहले आतंकी संगठन सिमी की मैगजीन इस्लामिक मूवमेंट में भड़काऊ लेख लिखने के आरोप में हनीफ शेख के खिलाफ

दिल्ली में केस दर्ज किया गया था। दिल्ली कोर्ट ने 2002 में शेख को फरार घोषित कर दिया। इस बीच, दिल्ली पुलिस को संदिग्ध के

भुसावल में होने की सूचना मिली। उसे गिरफ्तार करने के लिए स्पेशल सेल के 15 अधिकारी और कर्मचारी भुसावल आये।

क्या है सिमी?

मालूम हो कि केंद्र सरकार ने सिमी को बैन किया हुआ है। देश में आतंकवाद को बढ़ावा देने, शांति और सांप्रदायिक सद्भाव को

बिगाड़ने में सिमी की संलिप्तता के कई सबूत हैं। सिमी और उसके सदस्यों के खिलाफ UAPA सहित कानून की विभिन्न धाराओं के

तहत कई आपराधिक मामले दर्ज हैं।

Comments


bottom of page