top of page
  • Writer's pictureMeditation Music

नागपुर में बना ये प्रसाद 22 जनवरी को लंदन के मंदिरों में बंटेगा



This Prasad made in Nagpur will be distributed in the temples of London on January 22 - know what is its specialty
This Prasad made in Nagpur

जानें क्या है इसकी खासियत

नागपुर: 22 जनवरी को होने वाले राम मंदिर के प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर देशभर में उत्साह है। इस बीच खबर मिली है कि नागपुर में बने स्पेशल प्रसाद को आज लंदन के लिए रवाना किया गया है। इसे 22 जनवरी को लंदन के कई मंदिरों में वितरित किया जाएगा। हलवा बनाने वाले शैफ अयोध्या में 7000 किलो का राम हलवा बनायेंगे। गिनीज बुक का वर्ल्ड रिकॉर्ड में तीर्थ क्षेत्र का नाम दर्ज होगा। 29 तारीख को डेढ़ से 2 लाख राम भक्तों को बांटा जाएगा प्रसाद ,नागपुर में तैयार की जा रही है 7000 किलो की क्षमता वाली कड़ाही।

लंदन में भी 22 जनवरी को उत्सव

अयोध्या में जब प्राण प्रतिष्ठा उत्सव होगा, उसी दिन उसी समय पर लंदन में भी उत्सव मनेगा। लंदन में 22 तारीख को जो उत्सव होगा, उसमें प्रसाद वितरण किया जाएगा। भारत के प्रसिद्ध शैफ विष्णु मनोहर ने इसे बनाकर इसे लंदन के के प्रतिनिधियों को सौंपा।

भारत के प्रसिद्ध शैफ विष्णु मनोहर ने 15 से 17 किलो का हलवा (ड्राई फ्रूट से युक्त) बनाकर लंदन के लिए भेजा है। विष्णु मनोहर ने बताया कि लंदन के विभिन्न मंदिरों में प्रसाद के रूप में ये 22 जनवरी को वितरित होगा। कल तक यह हलवा लंदन पहुंच जाएगा और वहां पर फ्रीजर में रखकर उसे 22 तारीख तक सुरक्षित रखा जाएगा।

इसके अलावा विष्णु मनोहर 29 जनवरी को अयोध्या में 7000 किलो का राम हलवा बनाएंगे, जो तीर्थ क्षेत्र के नाम से गिनीज बुक की फोन रिकॉर्ड में दर्ज होगा, जिसकी तैयारी नागपुर में शुरू हो गई है। 12000 लीटर क्षमता की खास कढ़ाई बनाई जा रही है, जिसमें यह हलवा तैयार किया जाएगा, इस कढ़ाई का वजन 1400 किलो है और कढ़ाई की गहराई 5 फीट है और यह कढ़ाई स्टील की बन रही है।

विष्णु मनोहर ने बताया कि 7000 किलो वाले हलवे में 1000 किलो सूजी ,1000 किलो घी, 1000 किलो शक्कर, 200 लीटर दूध, ढाई हजार लीटर के आसपास पानी एवं कई किलो सूखा मेवा, इलायची पाउडर का उपयोग कर अयोध्या में राम हलवा तैयार किया जाएगा, विष्णु मनोहर ने कहा कि जो वर्ल्ड रिकॉर्ड बनेगा वह अयोध्या तीर्थ क्षेत्र के नाम पर बनेगा, लगभग डेढ़ लाख से 2 लाख लोगों को वह प्रसाद उसे दिन वितरित किया जाएगा।

bottom of page