top of page
  • Writer's pictureMeditation Music

डॉक्टरी की बढ़ाई बीच में छोड़ मुंबई की झुग्गियों में बना रहा था ड्रग्स



Leaving his doctorate in the middle, he was making drugs in the slums of Mumbai - police arrested him
doctorate

पुलिस ने किया गिरफ्तार

मुंबई। मलवाणी पुलिस ने कांदिवाली पश्चिम की झुग्गी बस्ती में गुप्त ड्रग प्रयोगशाला का भंडाफोड़ किया है। यहां बीएचएमएस की पढ़ाई पहले साल ही छोड़ने वाला छात्र नूर आलम महबूब आलम चौधरी (24) मेफेड्रोन (एमडीएमए) का उत्पादन कर शहरभर के ड्रग तस्करों को बेच रहा था।

पुलिस ने मौके से तकरीबन 1.17 करोड़ रुपये की तैयार मेफेड्रोन समेत कच्चा माल व केमिकल बरामद किया। पुलिस अधिकारी ने बताया कि विगत दिनों पुलिस ने मलवाणी से अबरार अहमद शेख (30) को एक ग्राम एमडीएमए और 100 थिनर की बोतलों के साथ गिरफ्तार किया था। पूछताछ के दौरान उसने ड्रग के धंधो में आलम चौधरी के शामिल होने की बात बताई।

ऑनलाइन प्लेटफार्म से कच्चा माल खरीदकर बनाता था MDMA

गत चार महीने पूर्व ही कांदिवाली पश्चिम के गणेश नगर में आलम चौधरी ने सिंगल बेड और एक स्लैब वाला 150 वर्ग गज का कमरा किराये पर लिया था। वह स्थानीय दुकानों और ऑनलाइन प्लेटफार्म से कच्चा माल खरीदकर यहां एमडीएमए बना रहा था। पुलिस ने बताया कि रसायन विज्ञान में गहरी रुचि रखने वाले चौधरी ने किताबों व ऑनलाइन उपलब्ध शोधों से एमडीएमए बनाने के तरीके की जानकारी ली।

शुरुआती असफल प्रयासों के बाद मिली सफलता

शुरुआती असफल प्रयासों के बाद वह सफल हो गया। उसने अपने यहां तैयार ड्रग का दोस्तों व नशे के लती लोगों से परीक्षण भी कराया। वह मालवणी और कांदिवली के छोटे तस्करों को एमडीएमए बेच रहा था और तस्करों के माध्यम से नालासोपारा में भी अपने ग्राहक बनाने की कोशिश में था। पुलिस उपायुक्त अजय कुमार बंसल ने बताया कि पूछताछ में हमें कुछ तस्करों के नामों की जानकारी हुई है। मामले की जांच जारी है।

コメント


bottom of page