top of page
  • Writer's pictureBB News Live

डीआरआई ने पकड़ी करोड़ों की सिगरेट



DRI caught cigarettes worth crores at Jawaharlal Nehru Port - smugglers hid them cleverly.
DRI caught

तस्करों ने बड़ी चालाकी से था छुपाया

मुंबई : राजस्व खुफिया निदेशालय की चपलता ने तस्करी की जा रही सिगरेट की एक बड़ी खेप पकड़ी है। जानकारी के अनुसार, DRI ने खुफिया जानकारी के आधार पर, जवाहरलाल नेहरू बंदरगाह पर लाखों सिगरेट पकड़ी हैं। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में इनकी कीमत पांच करोड़ रुपए से भी ज्यादा की है। DRI के एक अधिकारी ने बताया कि तस्करों ने इन्हें बड़ी ही चालाकी से छुपाया हुआ थ।

तस्करी किए गए माल में 33,92,000 सिगरेट की छड़ें शामिल

उन्होंने बताया कि तस्करों ने सिगरेट के डिब्बों को इमली वाले गत्ते के बक्सों के भीतर बड़ी चालाकी से छुपाया था। सिगरेट के डिब्बों को इमली के बक्सों के अंदर रखा गया था और चतुराई से सभी तरफ से इमली से ढक दिया गया था ताकि कार्डबोर्ड के डिब्बों को खोलने पर भी सिगरेट के डिब्बों का पता न चल सके। तस्करी किए गए माल में 33,92,000 सिगरेट की छड़ें शामिल थीं, जिनकी बाजार कीमत लगभग 5.77 करोड़ रुपये थी।

डीआरआई ने एयरपोर्ट पर पकड़े थे सांप

वहीं इससे पहले पिछले दिनों 21 दिसंबर को बैंकॉक से आ रहे एक यात्री को डीआरआई के अधिकारियों ने एयरपोर्ट पर रोका। यात्री और उसके सामान की जांच की गई। सामान की जांच के दौरान अधिकारियों को बिस्किट और केक के पैकेट के अंदर छिपाए गए नौ बॉल पायथन और दो कॉर्न स्नेक मिले। अधिकारियों ने जब इन सांपों को देखा तो उनके होश उड़ गए। सभी सांप विदेशी प्रजाति के थे और इन्हें तस्करी करके लाया जा रहा था।

डीआरआई ने बताया कि यह सांप भारत की जलवायु में जीवित नहीं रह सकते हैं। इसलिए इन सभी सांपों को बैंकॉक वापस भेजा जायेगा। इस मामले में एक अधिकारी ने बताया कि बॉल पायथन और कॉर्न स्नेक स्वदेशी प्रजातियां नहीं हैं और इन्हें जंगली जीवों और वनस्पतियों की लुप्तप्राय प्रजातियों में अंतरराष्ट्रीय व्यापार पर कन्वेंशन और आयात नीति का उल्लंघन करके लाया गया। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और मामले की जांच की जा रही है।

Comments


bottom of page