top of page
  • Writer's pictureMeditation Music

'टेंट में रामलला के दर्शन करने की दशकों पुरानी पीड़ा अब दूर होने जा रही है'



'The decades-old pain of having darshan of Ram Lalla in a tent is now going to go away' - PM Modi said in Solapur
'The decades-old pain of having darshan of Ram Lalla in a tent is now going to go away' - PM Modi said in Solapur

सोलापुर में बोले PM मोदी

सोलापुर : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज तीन राज्यों के दौर पर जा रहे हैं। वह महाराष्ट्र के सोलापुर पहुंच चुके हैं। यहां उन्होंने 2 हजार करोड़ रुपये की 8 AMRUT प्रोजेक्ट का शिलान्यास किया। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना के कुछ लाभार्थियों को घर की चाबी भी सौंपी। बता दें कि पीएम मोदी अभी राम मंदिर के लिए विशेष अनुष्ठान कर रहे हैं। उनका एक वक्त का फलाहार चल रहा है इसके बावजूद उनके कामकाज में कोई कमी नहीं आई है। भक्ति के बावजूद ड्यूटी को लेकर वह अडिग है।

प्राण प्रतिष्ठा से पहले मैं अपने नियमों में व्यस्त हूं- पीएम मोदी

जनता को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा से पहले कुछ संतों के मार्ग दर्शन में मैं अपने नियमों में व्यस्त हूं और उसका मैं कठोरता से पालन भी करता हूं। ये भी संयोग है कि इसकी शुरुआत महाराष्ट्र के नासिक से पंचवटी की भूमि से हुई। राम भक्ति से भरे इस वातावरण में आज महाराष्ट्र के एक लाख से ज्यादा परिवारों का गृह प्रवेश हो रहा है। महाराष्ट्र के ये एक लाख से अधिक परिवार भी 22 जनवरी को अपने पक्के घर में शाम को राम ज्योति प्रज्वलित करेंगे।"

'22 जनवरी को ऐतिहासिक क्षण आने वाला है'

अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले समारोह के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, ''ये समय हम सभी के लिए भक्ति-भाव से भरा हुआ है। 22 जनवरी को वो ऐतिहासिक क्षण आने वाला है, जब हमारे भगवान राम अपने भव्य मंदिर में विराजने जा रहे हैं। हमारे आराध्य के दर्शन टेंट में करने की दशकों पुरानी पीड़ा अब दूर होने जा रही है।''

बेंगलुरु में बोईंग कैंपस का करेंगे उद्धाटन

दोपहर में पीएम मोदी बेंगलुरु जाएंगे जहां पर बोइंग इंडिया इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी सेंटर कैम्पस का उद्घाटन करेंगे। पीएम आज शाम 6 बजे चेन्नई में खेलो इंडिया यूथ गेम्स 2023 के उद्घाटन समारोह में शामिल होंगे। इस दौरे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रामेश्वर में उस मंदिर में भी जाएंगे जिसे हिंदुओं के चार धामों में से एक माना जाता है।

bottom of page