top of page
  • Writer's pictureBB News Live

आठ महीने बाद बिहार से गिरफ्तार हुआ नाबालिग का अपहरणकर्ता


आरसीएफ पुलिस की सतत जांच को मिली सफलता

मुंबई। चेंबूर आरसीएफ पुलिस की हद से करीब 8 माह पहले अपहृत हुई एक 16 वर्षीय युवती को खोजने में पुलिस को सफलता मिली है।इस मामले के 25 वर्षीय आरोपी को पुलिस ने बिहार से गिरफ्तार कर मुंबई लाई है।जिसका नाम नरेश रामअशीष राय (25) बताया जाता है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 20 अगस्त 2023 को आरसीएफ पुलिस की हद में रहने वाली 15 वर्ष 6 माह की युवती लापता हो गई थी।इस मामले की शिकायत पुलिस ने 492/2023 भादवी 363 के तहत दर्ज किया था।सूत्र बताते हैं की उक्त युवती के पिता के कारखाने में काम करने वाला नरेश राय (25) भी उसी दिन से लापता था।जिसके चलते पुलिस को पूरा शक नरेश पर गया और उसी एंगल से पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू की।वरिष्ठ अधिकारियो के निर्देश पर जब पुलिस ने पीड़ित युवती व संसयित आरोपी का सीडीआर लोकेशन निकाला तो दोनों का लोकेशन करीब करीब एक जैसा ही मिला।और दोनों का सिमकार्ड बार बार बदली होता पाया गया लेकिन मोबाइल वे दोनों एक ही यूज करते पाए गए।और

तो और आरोपी युवक का लोकेशन काठमांडू,दिल्ली, बिहार ऐसा हमेशा बदली होता पाया गया।अंत में उसका लोकेशन जब स्थाई रूप से बिहार का दिखाने लगा तो पुलिस ने एक टीम का गठन कर बिहार पहुंच गई।लेकिन उस बार पुलिस को कोई कामयाबी नहीं मिली।सूत्र बताते है की पुलिस उपायुक्त व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक केदारी पवार की देखरेख में पुनः पुलिस की एक टीम को बिहार भेजा गया।इस बार पुलिस ने बिहार के माधवपुरा सुस्ता में दो दिन रुक कर तांत्रिक व मानवी यंत्रणा का उपयोग आरोपी को 4 अप्रैल 2024 को हिरासत में ले लिया है।पीड़ित युवती को आरोपी के कब्जे से सुखरूप बरामद भी पुलिस ने किया है।पुलिस सूत्र बताते हैं की इस जांच टीम में आरसीएफ के सहायक पुलिस निरीक्षक किरण मांढरे व पुलिस उपनिरीक्षक रमेश खपाले,पुलिस हवलदार अनिल घरत,प्रितम पाटील की टीम शामिल थी।

Comments


bottom of page